Pitru Paksha 2021: पितरों का पूरा आशीर्वाद चाहिए तो इन जरूरी बातों का रखें ध्‍यान, बरसेंगी खुशियां

पितरों का आशीर्वाद (Blessings) जिंदगी को खुशियों (Happiness) से भर देता है और उनकी नाराजगी परेशानियों (Problems) का अंबार लगा देती है. लिहाजा पितृ पक्ष (Pitru Paksha 2021 ) में कुछ बातों का ध्‍यान रखें ताकि जिंदगी में पितरों की कृपा बरसती रहे.

भाद्रपद महीने की पूर्णिमा (20 सितंबर, सोमवार) से पितृ पक्ष (Pitru Paksha 2021 शुरू हो चुका है. पितृ पक्ष के ये 15 दिन बहुत अहम होते हैं. इस दौरान पितरों को तर्पण (Tarpan) करके उनसे आशीर्वाद लिया जा सकता है क्‍योंकि जिंदगी में सफलता के लिए‍ पितरों का आशीर्वाद (Blessings) बहुत जरूरी है. अब आने वाले 6 अक्‍टूबर पितरों को तर्पण करते समय यदि कुछ जरूरी बातों का ध्‍यान रखें तो पितरों का पूरा आशीर्वाद पा सकते हैं.

 

ऐसे मिलेगा पितरों का पूरा आशीर्वाद :

पितरों का पूरा आशीर्वाद पाने के लिए ऐसे काम करना चाहिए जिनसे वे प्रसन्‍न हों.

– पूर्वजों की आत्मा की शांति के लिए पूरे मन से दान-पुण्य करें. जिस दिन पूर्वजों की तिथि हो उस दिन सोना-चांदी, घी-तेल, नमक, फल, मिठाई, गुड़ का दान करना बहुत अच्‍छा होता है.

– यदि पूर्वजों के निधन की तिथि पता नहीं है या किसी की अकाल मृत्‍यु हुई है तो सर्व पितृ श्राद्ध के दिन पितरों का पिंडदान या श्राद्ध जरूर करें. इससे पितरों की आत्‍मा को शांति मिलती है.

– श्राद्ध (Shradh) में कभी भी कोई शुभ काम न करें. ना ही तामसिक भोजन करें. ऐसा करना पितरों को नाराज कर सकता है.

– पितरों का आशीर्वाद पाने के लिए केवल श्राद्ध कर्म करने वाला व्‍यक्ति ही नहीं बल्कि घर के सभी सदस्‍य अपने हाथ से दान करें. तिथि के दिन किसी न किसी गरीब व्‍यक्ति को भोजन दें.

यह भी पढ़े :  Shradh Karam : किसको है श्राद्ध कर्म करने का अधिकार, जानिए क्या है नियम.

– पितृ पक्ष के दौरान या अन्‍य दिनों में आपसे कोई गलती हुई तो पितरों से क्षमा जरूर मांगे. इसके लिए तिथि के दिन तिल के तेल का दीपक जलाकर जरूरतमंदों में भोजन बांटे और गलतियों की क्षमा मांगें. इससे पितृ प्रसन्न होंगे.