STRESS : सोते समय ये गलती करने वालों को नहीं बचा पाता कोई, पूरी जिंदगी रहते हैं तनाव के शिकार.

अच्‍छी सेहत के लिए नींद बहुत जरूरी है और इसके साथ ही यह भी जरूरी है कि सोने की जगह सही हो. बेड के पास या उस कमरे में ऐसी कोई जगह न हो, जो नींद में रुकावट डाले या माहौल में निगेटिविटी लाए. लेकिन अक्‍सर लोग इन बातों पर ध्‍यान नहीं देते हैं और अपने बेड के पास ऐसी चीजें रखकर सोते हैं, जो उन्‍हें तनाव का शिकार बनाती हैं. इसका बुरा असर उन्‍हें अपनी जिंदगी के हर पहलू पर झेलना पड़ता है.

इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स :
सोते समय अपने सिरहाने या बेड के पास मोबाइल, लेपटॉप जैसे इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स रखना सुकून से सोने नहीं देता है. ये चीजें नकारात्‍मकता लाती हैं और इसके कारण व्‍यक्ति स्‍ट्रेस का शिकार होता है.

पर्स :
अक्‍सर लोग अपने सिर के पास या बेड पर पर्स-बटुआ रखकर सोते हैं. यह आदत उन्‍हें बड़ा नुकसान पहुंचा सकती है. ऐसा व्‍यक्ति हमेशा चिंता में रहता है.

जूते-चप्पल :
वास्तु शास्त्र के अनुसार कभी सिर या बेड के नीचे जूते-चप्पल रखकर नहीं सोना चाहिए. इसका बुरा असर मन ही नहीं बल्कि शरीर पर भी पड़ता है. यह आदत व्‍यक्ति को बीमारियों का शिकार बनाती है.

किताबें :
कई लोगों को सोने से पहले पढ़ने की आदत होती है. वहीं कुछ स्‍टूडेंट्स बेड पर बैठकर ही पढ़ते हैं. ऐसे लोग ध्‍यान रखें कि पढ़ाई के बाद किताबों को बेड से दूर कर दें. सिरहाने किताबें रखकर सोना आपकी एकाग्रता को कम करता है और तनाव का शिकार बनाता है.

तेल :
सिर के पास तेल रखकर सोना कई मुसीबतों को खुद ही बुलावा देना है.