Astrology: जानिए किस ग्रह से तय होता है आपका भाग्‍य, स्‍वभाव और प्रोफेशन भी बताते हैं 9 ग्रह

कुंडली (Kundali) में हर ग्रह (Planet) अहम होता है और उसकी स्थिति से व्‍यक्ति के स्‍वभाव (Nature), पेशे (Profession) पर अहम असर पड़ता है. वहीं एक ग्रह ऐसा होता है जो यह बताता है कि व्‍यक्ति कितना भाग्‍यशाली है.

ज्‍योतिष (Astrology) में हर ग्रह (Grah) के गुण, उसकी शक्ति और उससे संबंधित पेशे के बारे में बताया गया है.

 

कुंडली में इन 9 ग्रहों (9 Planets) की स्थिति ही व्‍यक्ति का स्‍वभाव (Nature), उसका पेशा (Profession)और आदतें (Habits) तय करती है. जैसे जिस जातक का सूर्य अच्‍छा होगा तो व्‍यक्ति साहसी-उग्र होगा. उसके लिए राजनीति-प्रशासन जैसा पेशा अच्‍छा रहेगा. इसी तरह अन्‍य ग्रहों का भी अपना स्‍वभाव होता है.

 

आज जानते हैं कि कौनसा ग्रह किस पेशे, स्‍वभाव या शक्ति का प्रतिनिधित्‍व करता है. साथ ही ज्‍योतिष में सबसे अच्‍छा ग्रह किसे माना गया है. यदि कुंडली में ये ग्रह कमजोर हों तो विशेषज्ञ से सलाह लेकर उपाय करने चाहिए.

 

9 ग्रह और उनका असर :

1. सूर्य (Sun)- सूर्य ग्रह आग, गुस्सा, साहस, विवेक-विद्या और राजसी जीवन का प्रतीक है. जिनका सूर्य मजबूत होता है उनके लिए राजनीति और प्रशासनिक क्षेत्र में काम करना लाभदायी होता है.

2. चंद्र (Moon)- यह ग्रह मन, सुख और शांति देता है. यह ग्रह कुम्हार या मल्लाह जैसे पेशे को दर्शाता है.

3. मंगल (Mars)- यह ग्रह साहस, आत्मविश्वास, क्रूरता देता है. आमतौर पर इसका संबंध सिक्‍योरिटी जैसे पेशे से होता है. इसके अलावा कसाई या अपराधिक गतिविधियों के जरिए पैसे कमाने का संबंध भी इससे है.

 

4. बुध (Mercury)- यह ग्रह बुद्धिमत्‍ता, मित्रता, वाकपटुता, मिलनसारिता और चापलूसी देता है. यह ग्रह दलाली और व्‍यापार से संबंधित है.

यह भी पढ़े :  Sunday Remedies: कुंडली में सूर्य कमजोर हो तो झेलनी पड़ती है बेरोजगारी-बीमारी, जानें मजबूत करने के उपाय

5. गुरु (Jupiter)- यह ग्रह जातक को शांत, ज्ञानी और छिपा रुस्‍तम बनाता है. इसका संबंध चिकित्‍सा, शिक्षण, कंसल्‍टेंट या काउंसलर जैसे प्रोफेशन से होता है.

 

6. शुक्र (Venus)- यह ग्रह भौतिक सुख-सुविधाएं, सौंदर्य, मैरिड लाइफ पर असर डालता है. जिन लोगों की कुंडली में यह ग्रह अच्‍छी स्थिति में हो उन्‍हें विलासिता पूर्ण जिंदगी जीने का मौका मिलता है. इसका संबंध मिट्टी से जुड़े कामों जैसे- खेती, जमींदारी, क्‍ले आर्ट से होता है.

7. शनि (Saturn)- यह ग्रह चालाकी और अकड़ लाता है. लोहे और जूते-चप्‍पल से जुड़े व्‍यापार से इसका संबंध होता है.

8.राहु (Rahu)- यह पूर्वाभास करने की शक्ति, सोचने की ताकत देता है. हालांकि यह जातक को धोखेबाज और अत्‍याचारी भी बनाता है. इनका संबंध हाउस कीपिंग, क्‍लीनिंग जैसे सर्विस सेक्‍टर से है.

9. केतु (Ketu)- यह व्‍यक्ति को मेहनती बनाता है. जिनकी कुंडली में केतु मजबूत हो वे ऐसे पेशे में होते हैं, जिसमें शारीरिक श्रम ज्‍यादा लगता है.

 

सबसे अच्‍छा ग्रह है गुरु :

ज्‍योतिष में गुरु को सबसे अच्‍छा ग्रह माना गया है क्‍योंकि इसी से व्‍यक्ति की उम्र और भाग्‍य का पता चलता है. जाहिर है जिंदगी में सब कुछ पाने के लिए मेहनत के साथ-साथ किस्‍मत बहुत जरूरी है, जो गुरु ग्रह से मिलती है. यही ग्रह सुख, समृद्धि और शांति देता है.