Ind Vs Ban 3rd ODI : ईशान किशन के डबल धमाल से जीता भारत, बांग्लादेश को रौंद दर्ज की तीसरी सबसे बड़ी जीत.

Ind Vs Ban 3rd ODI : बांग्लादेश के साथ तीसरे वनडे में ईशान किशन के 210 और विराट कोहली के 113 रनों की मदद से भारतीय टीम ने 50 ओवर में आठ विकेट पर 409 रन बनाए. इसके जवाब में बांग्लादेश की टीम 182 रन पर ऑल आउट हो गई और मैच 227 रन से हार गई.

Ind Vs Ban 3rd ODI : टीम इंडिया ने चटगांव में खेले गए सीरीज के तीसरे वनडे में बड़ी जीत हासिल कर ली है और बांग्लादेश के हाथों खुद को क्लीन स्वीप से बचा लिया है. बांग्लादेश ने 3 मैच की वनडे सीरीज को 2-1 से अपने नाम कर लिया है और भारत को लगातार दूसरी बार अपने घर में मात दी है. भारत ने इस मैच में 227 रनों से जीत हासिल की, टीम इंडिया ने ईशान किशन की डबल सेंचुरी और विराट कोहली की सेंचुरी के दमपर 409 का स्कोर बनाया था. जवाब में बांग्लादेश की टीम 182 पर ही ऑलआउट हो गई.

Ads

ईशान किशन के डबल धमाल से जीता भारत :

किशन ने इस मैच में 131 गेंदों में 210 रन की पारी खेली. उनके बल्ले से 24 चौके और 10 छक्के निकले. किशन ने 160.31 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी की. वह भारत के लिए वनडे में दोहरा शतक लगाने वाले चौथे बल्लेबाज हैं. सबसे पहले यह कारनामा सचिन ने किया था. उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 200 रन बनाए थे. इसके बाद सहवाग ने वेस्टइंडीज के खिलाफ दोहरा शतक लगाया. रोहित ने तीन बार यह कारनामा किया और अब किशन यह कीर्तिमान हासिल करने वाले चौथे भारतीय बन गए हैं.

Ads
यह भी पढ़े :  Nepal Plane Crash: विमान हादसे से पहले एयर होस्टेस का टिकटॉक वायरल, यूजर्स बोले- जहां भी रहो, ऐसे ही रहो.

 

रनों के हिसाब से तीसरी बड़ी जीत :

रिकॉर्ड्स को देखें तो वनडे क्रिकेट में भारत की रनों के हिसाब से तीसरी बड़ी जीत है. भारत ने यहां 227 रनों से जीत दर्ज की, रनों के हिसाब से भारत की सबसे बड़ी जीत 257 रनों से है. जो बरमूडा के खिलाफ साल 2007 में मिली थी.

• 257 रनों से जीत बनाम बरमूडा, 2007
• 256 रनों से जीत बनाम हॉन्ग कॉन्ग, 2008
• 227 रनों से जीत बनाम बांग्लादेश, 2022

Ads

ईशान-कोहली ने कर दिया कमाल :

Ads

शनिवार को खेला गया तीसरा वनडे मैच पूरी तरह से टीम इंडिया के नाम रहा, भारत की ओर से ईशान किशन ने 210 रनों की रिकॉर्ड पारी खेली. ईशान भारत की ओर से वनडे में दोहरा शतक जड़ने वाले चौथे खिलाड़ी बन गए हैं. 131 बॉल की अपनी इस पारी में ईशान किशन ने 24 चौके, 10 छक्के जमाए. 

ईशान किशन के अलावा टीम इंडिया के पूर्व कप्तान विराट कोहली ने भी इस मैच में शतक जड़ा. विराट कोहली ने 113 रनों की पारी खेली और अपने वनडे करियर की 44वीं सेंचुरी जड़ी. विराट कोहली ने ईशान किशन के साथ मिलकर 290 रनों की ऐतिहासिक पार्टनरशिप की.

Ads

भारत ने छठी बार बनाया 400+ स्कोर :

भारत ने इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए 409 का स्कोर बनाया और बांग्लादेश को 410 का टारगेट दिया था. यह छठी बार था जब टीम इंडिया ने वनडे क्रिकेट में 400 का आंकड़ा पार किया हो, भारत का सर्वाधिक स्कोर 418 रन है.

यह भी पढ़े :  The Fastest WordPress Theme

•    418/5 बनाम वेस्टइंडीज़, 2011
•    414/7 बनाम श्रीलंका, 2009
•    413/5 बनाम बरमूडा, 2007
•    409/8 बनाम बांग्लादेश, 2022
•    404/5 बनाम श्रीलंका, 2014
•    401/3 बनाम साउथ अफ्रीका, 2010

भारत-बांग्लादेश वनडे सीरीज :

Ads

•    पहला वनडे- बांग्लादेश 5 रनों से जीता
•    दूसरा वनडे- बांग्लादेश 1 विकेट से जीता
•    तीसरा वनडे- भारत 227 रनों से जीता

 

किशन ने क्रिकेट के लिए 12 साल में छोड़ा था :

बता दें कि 18 जुलाई 1998 को बिहार की राजधानी पटना में जन्में ईशान जब 12 साल के थे तब उनके परिवार ने पटना को छोड़कर रांची में बसने का फैसला किया था. उनके पिता के मुताबिक ईशान के कोच ने शहर छोड़ने की सलाह दी थी ताकि वे उच्च स्तर पर खेलने के लिए तैयार हो सके. मां इसके लिए तैयार नहीं थी, लेकिन ईशान की जिद के आगे परिवार ने अंत में रांची जाने का फैसला कर लिया.

 ईशान के कोच उत्तम मजूमदार के अनुसार वे पहली बार 2005 में उनसे मिले थे. तब ईशान के साथ उनके बड़े भाई राजकिशन भी मौजूद थे. उत्तम मजूमदार ने ईशान के पिता प्रणव कुमार पांडेय को कहा था कि हमेशा अपने लड़कों को खेल के लिए प्रोत्साहित कीजिएगा. वे ईशान के बड़े भाई का चयन करने के लिए गए थे. उसी समय उन्होंने ईशान की बल्लेबाजी देखी थी. तब वे इस बाएं हाथ के बल्लेबाज से काफी खुश हुए थे. उत्तम मजूमदार ने कहा था कि ईशान में स्पार्क था. उसके मैदान पर चलने और सोचने की क्षमता से मैं काफी प्रभावित हुआ था. राजकिशन को छोड़कर उन्होंने किशन को चुनने का फैसला किया था.

यह भी पढ़े :  Best App to Avoid Traffic Challan: अब नहीं कटेगा चालान! ये ऐप बचाएगा ट्रैफिक चालान से जानें कैसे

 

15 साल की उम्र में रणजी टीम में हुआ था चयन :

किशन का चयन जब झारखंड रणजी टीम के लिए हुआ था तब वे 15 साल के थे. इसके बाद अंडर-19 वर्ल्ड कप 2016 में वे टीम इंडिया के कप्तान थे. उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ भारतीय टीम की ओर से अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में पहला टी20 मैच खेला था. हालांकि, अब तक किशान वनडे क्रिकेट में नौ मैचों में कुछ खास नहीं कर पाए थे, लेकिन अपने 10वें मैच में उन्होंने इतिहास रच दिया है और अब चयनकर्तओं को सोचने पर मजबूर कर दिया है. अगर किशन अपनी लय बरकरार रखते हैं तो 2023 विश्व कप में भी भारत के लिए पारी की शुरुआत कर सकते हैं.

Ads