28.1 C
Delhi
Tuesday, October 19, 2021

Navratri 2021: जानें नवरात्रि में 9 दिन किस दिन कौन-सा रंग पहनना चाहिए

Must read

शारदीय नवरात्रि 2021, 7 नवंबर से प्रारंभ हो चुकी है। नवरात्रि के 9 दिनों में माता रानी के अलग-अलग स्वरूप की पूजा की जाती है। अलग – अलग स्वरूप को अलग-अलग प्रकार से भोग लगाया जाता है। साथ ही यह भी कहा जाता है कि माता रानी के 9 दिन के हिसाब से रंग के कपड़ें पहन कर आराधना करने से माता रानी प्रसन्न हो जाती है और फल की प्राप्ति होती है। तो आइए जानते हैं किस दिन कौन-से रंग के कपड़े पहनना चाहिए.

1.प्रथम दिन मां शैलपुत्री – पीला ड्रेस – नवरात्रि के पहले दिन मां दुर्गा के पहले स्वरूप शैलपुत्री की पूजा की जाती है। इसलिए खासकर पीले रंग के वस्त्र पहने जाते हैं।

2.दूसरे दिन मां ब्रह्मचारिणी – हरा रंग – नवरात्रि के दूसरे दिन मां ब्रह्मचारिणी की पूजा की जाती है। इस दिन भक्त हरे रंग के वस्त्र पहनते हैं।

3.तीसरे दिन मां चंद्रघंटा – भूरे रंग के वस्त्र – नवरात्रि के तीसरे दिन मां चंद्रघंटा की पूजा की जाती है। इस दिन भक्तजन भूरे रंग के वस्त्र पहनकर मां की आराधना करते हैं।

यह भी पढ़े :  Shradh Karam : किसको है श्राद्ध कर्म करने का अधिकार, जानिए क्या है नियम.

4.चौथे दिन मां कुष्मांडा – नारंगी वस्त्र – जैसे कि अलग-अलग स्वरूप है उस अनुसार चौथे दिन मां कुष्मांडा की पूजा-अर्चना की जाती है। इस दिन भक्तगण भूरे रंग के वस्त्र पहनकर मां की आराधना करते हैं।

5.पांचवे दिन मां स्कंदमाता – सफेद रंग – नवरात्रि के पांचवे दिन मां स्कंदमाता की पूजा-अर्चना की जाती है। इस दिन भक्त सफेद रंग के वस्त्र पहनते हैं।

 

6.छठे दिन मां कात्यायानी – लाल रंग – नवरात्रि के छठे दिन मां कात्यायनी की पूजा अर्चना की जाती है। इस दिन विशेष जन लाल रंग के कपड़े पहनते हैं।

यह भी पढ़े :  HAPPY BIRTHDAY 27 सितंबर 2021 : आपका जन्मदिन

 

7.सातवें दिन मां कालरात्रि – नीला रंग – नीला रंग वैसे भी सभी पर खूब जचता है। सातवें दिन मां की आराधना नीले रंग के वस्त्र पहन कर करें।

8.आठवेंदिन मां महागौरी – गुलाबी रंग – अष्टमी का दिन काफी अहम होता है। इस दिन कई घरों में माता रानी की पूजा की जाती है। हालांकि इस दिन गुलाबी रंग के कपड़े पहने जाते हैं। भक्त जन को गुलाबी रंग ड्रेस पहनकर मां की आराधना करना चाहिए।

9.नौवें दिन मां सिद्धिदात्री – जामुनी रंग –नवमी का दिन भी विशेष महत्व रखता है। किसी के यहां अष्टमी का अधिक महत्व होता है तो किसी के यहां नवमी का। नवमी के दिन मुख्य रूप से जामुनी रंग पहना जाता है। जिसे देखकर मां भी खुश हो जाएंगी।

- Advertisement -spot_img

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest article