BH Series Number Plate : अब नये – पुराने सभी गाड़ियों पर लगेगा बीएच सीरीज वाला नंबर प्लेट.

BH Series Number Plate : कामकाज और नौकरी की वजह से जब आप एक शहर से दूसरे शहर जाते हैं तो कई समस्याओं से जूझना पड़ता है। इनमें से एक है अपनी गाड़ी का रजिस्ट्रेशन बदलवाने की समस्या। नए शहर में दूसरे स्टेट की गाड़ी का नंबर देखते ही पुलिस सबसे पहले रोकती है। अगर आपके पास BH सीरीज नंबर प्लेट है, तो अब ऐसा नहीं होगा। इस नंबर प्लेट की वजह से देश के किसी भी स्टेट में पुलिस आपकी कार को तब तक नहीं रोक सकती जब तक आप कुछ गलत न करें।

Ads

BH सीरीज के लिए रजिस्ट्रेशन 15 सितंबर 2021 से शुरू हुआ था, इसके बावजूद कम लोगों को इसके बारे में जानकारी है।

आखिर क्या है BH सीरीज नंबर प्लेट, क्या इसे कोई भी ले सकता है, इसके लिए कितने पैसे देने होंगे आज यह सब जानेंगे जरूरत की खबर में…

Ads

क्या होता है BH-Series मार्क?

गाड़ियों के नंबर प्लेट पर लगने वाले भारत सीरीज मार्क, कार मालिक को एक राज्य से दूसरे राज्य में गाड़ी को बिना किसी ट्रांसफर के ले जाने की अनुमति देता है। इस तरह के नंबर प्लेट की शुरुआत BH से शुरू होती है, जिससे इनकी पहचान होती है।

Photo Source : www.v3cars.com

इस तरह से करें अप्लाई :

भारत सीरीज मार्क के लिए अप्लाई करने के दो तरीके हैं। पहला रजिस्ट्रेशन ऑफिस जाकर इसके लिए आवेदन किया जा सकता सकता है। वहीं, दूसरा ऑनलाइन प्रक्रिया के तहत इसके लिए अप्लाई किया जा सकता है।

ऑफलाइन आवेदन प्रक्रिया :

1. ऑफलाइन आवेदन के तहत BH-सीरीज के रजिस्ट्रेशन मार्क को लेने के लिए आपको रजिस्ट्रेशन ऑफिस जाकर इसके लिए अप्लाई करना होगा।

यह भी पढ़े :  New Vehicle Rule : कार-बाइक-ऑटो वालों के ल‍िए न‍ित‍िन गडकरी का नया ऐलान.

2. इस प्रक्रिया में सबसे पहले जहां गाड़ी का रजिस्ट्रेशन हुआ है उस राज्य के रजिस्ट्रेशन ऑफिस से नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट (NOC) लेना होगा, जिसके बाद ही आप इस नंबर प्लेट के लिए अप्लाई कर पाएंगे।

Ads

3. इसके बाद नए राज्य में प्रो-राटा आधार पर रोड टैक्स का भुगतान करना होगा, जिसके बाद एक नया रजिस्ट्रेशन मार्क आपको सौंपा जाएगा।

4. आप चाहे तो मूल राज्य से रोड टैक्स की वापसी के लिए एक आवेदन भी दाखिल कर सकते हैं।

Ads

सवाल 1- सबसे पहले बताएं कि अभी जॉब की वजह से स्टेट बदलने पर वाहनों के रजिस्ट्रेशन का प्रोसेस क्या है?

जवाब- मोटर व्हीकल एक्ट 1988 के सेक्शन 47 के मुताबिक आप किसी भी स्टेट में एक साल तक दूसरे स्टेट के वाहन को चला सकते हैं। एक साल के भीतर आपको नए स्टेट में अपने वाहन को रजिस्टर्ड कराना होता है। इसके लिए पुराने RTO से NOC लाना जरूरी होता है। हर राज्य में ये प्रोसेस अलग-अलग है और डॉक्युमेंट भी अलग-अलग लगते हैं। इस वजह से लोग दूसरे राज्य में अपने वाहन का दोबारा रजिस्ट्रेशन कराने से कतराते हैं।

सवाल 2– BH सीरीज नंबर प्लेट क्या है?

जवाब- भारत सरकार ने अगस्त 2021 में नॉन ट्रांसपोर्ट व्हीकल के लिए BH नंबर प्लेट या भारत सीरीज रजिस्ट्रेशन नंबर की शुरुआत की थी। BH सीरीज नंबर प्लेट की वजह से एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने के बाद व्हीकल रजिस्ट्रेशन को ट्रांसफर करने की बाध्यता हट जाती है। BH नंबर के लिए साधारण नंबर्स की तुलना में ज्यादा टैक्‍स देना होता है।

Ads
यह भी पढ़े :  BH Series Number Plate : BH-Series नंबर प्लेट के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू, गाड़ी नई हो या पुरानी यहाँ करें अप्लाई.

इसे एक उदाहरण से समझते हैं… मोटर व्हीकल एक्ट के अनुसार आपकी कार का नंबर महाराष्ट्र के नंबर प्लेट के साथ रजिस्टर्ड है। यदि आप अपनी जॉब बदलते हैं या फिर आपका ट्रांसफर हो जाता है तब आप नए स्टेट में अपनी कार को सिर्फ 12 महीने की तक ही चला सकते हैं। इसके बाद आपको कार का रजिस्ट्रेशन नए स्टेट में कराना होगा। वहीं अगर आपके पास BH सीरीज का रजिस्ट्रेशन नंबर है तब ऐसा जरूरी नहीं होगा।

सवाल 3- क्या BH सीरीज का नंबर कोई भी ले सकता है?

जवाब- नहीं। यह नंबर प्लेट सभी के लिए नहीं होता है। डिटेल में जानने के लिए नीचे लगे क्रिएटिव को पढ़ें

Ads