Vastu Tips: घर में इस स्थान पर रखें किताबें, बढ़ेगा ज्ञान और समझने की क्षमता

किताबों से हमें फायदा हो, इसलिए ये जानना बहुत जरूरी है कि पुस्तकों को घर में किस जगह रखना चाहिए. वास्तु के अेनुसार पुस्तकों के लिए भी एक दिशा निर्धारित की गई है.

हर व्यक्ति की बुद्धि का विकास बेहतर किताबों से ही होता है. किताबें ही हमारा मार्गदर्शन करती हैं और ज्ञान बढ़ाती हैं. ऐसे में ये भी जान लेते हैं कि किताबों को रखने की सही जगह कौन सी है. वास्तु शास्त्र के अनुसार यदि सही दिशा में किताबों को रखा जाए, तो व्यक्ति को पढ़ाई में आने वाली परेशान‍ियां दूर हो सकती हैं. वह व्यक्ति जीवन में सफलता प्राप्त कर सकता है. आपको बताते हैं कि किताबों को वास्तु शास्त्र के अनुसार किस दिशा में रखना फायदेमंद होता है.

 

घर में किताबें रखने की सही दिशा

वास्तु शास्त्र के अनुसार स्टूडेंट की स्टडी टेबल ऐसी दिशा में होनी चाहिए कि उसका मुंह पूर्व दिशा की तरफ रहे. साथ ही ध्यान रखें कि पढ़ाई करते समय स्टूडेंट की पीठ दरवाजे की तरफ भी नहीं होनी चाहिए.

वास्तु शास्त्र के अनुसार स्टडी रूम हमेशा ईशान और पूर्व के मध्य, उत्तर और वायव्य, पश्चिम और वायव्य कोण में बनाना चाहिए.

वास्तु शास्त्र के अनुसार स्टडी रूम में किताबें कभी खुली हुई रैक पर नहीं रखनी चाहिए. ऐसा करने से स्टूडेंट में निगेटिव एनर्जी उत्पन्न होती है. स्टडी रूम बनाते समय ध्यान रखें कि किताबों की अलमारी पर दरवाजा जरूर बनाएं.

वास्तु शास्त्र के अनुसार बुक शेल्फ को या जहां आपने किताबें रखी हैं वो जगह हमेशा साफ होनी चाहिए वहां धूल मिट्टी होने से पढ़ाई के दौरान अवरोध पैदा होते हैं.

यह भी पढ़े :  TOE RING : पति के लिए हो सकता है खतरा बिछिया पहनते समय न करें ऐसी भूल.

वास्तु शास्त्र में बुक शेल्फ को डॉइंग रूम में रखना अच्छा माना जाता है, वहीं इसे बेडरूम में रखने से बचना चाहिए. किताबों को बेडरूम में रखना आपके वैवाहिक रिश्तों पर निगेटिव अफेक्ट डालता है.

वास्तु शास्त्र के अनुसार स्टूडेंट को नैऋत्य दिशा या दक्षिण दिशा की तरफ बैठकर पढ़ाई नहीं करनी चाहिए.