Sleeping Direction: इस दिशा में मुख करके सोना होता है शुभ, भगवान कुबेर की होती है कृपा

सनातन धर्म में वास्तु शास्त्र (Vastu Shastra) का बहुत महत्व माना जाता है. इसमें सोते समय हमारे मुख की दिशा भी शामिल है.

सनातन धर्म में वास्तु शास्त्र (Vastu Shastra) का बहुत महत्व माना जाता है. अगर हमारे घर का वास्तु ठीक हो तो नकारात्मक शक्तियां दूर रहती हैं और परिवार में सुख-समृद्धि बढ़ती है.

सोते समय रखें वास्तु का ध्यान :

वास्तु शास्त्र के मुताबिक हमें घर में सोते समय भी वास्तु (Vastu Shastra) का ध्यान रखना चाहिए. अगर आप सही दिशा में मुख करके सोते हैं तो इससे धन के देवता कुबेर (Kuber Dev) प्रसन्न होते हैं और घर में पैसों की बरसात होती रहती है. आइए आज आपको बताते हैं कि सोते समय किस दिशा में अपना मुख रखना चाहिए.

दक्षिण दिशा में नहीं होना चाहिए मुख :

वास्तु के अनुसार जब भी आप सोकर उठें तो आपका मुख कभी भी दक्षिण दिशा में नहीं होना चाहिए. इसके बजाय आपको सोने की पोजिशन ऐसी हो कि उठते ही आपका चेहरा उत्तर-पूर्व की दिशा में हो. इस दिशा में सोने से कुबेर देवता (Kuber Dev) की आप पर कृपा दृष्टि बनी रहती है और आप पर सुख-समृद्धि की बरसात होती है.

पूर्व दिशा में मुख करके करें भोजन :

वास्तु शास्त्र (Vastu Shastra) के अनुसार जब आप भोजन करें तो आपका चेहरा हमेशा पूर्व या उत्तर दिशा की ओर होना चाहिए. ये दोनों सकारात्मक दिशाएं मानी जाती हैं और इनमें सकारात्मक ऊर्जा का वास माना जाता है. इस दिशा में मुख करके भोजन करने से उसकी ऊर्जा आपके तन और मन दोनों में पहुंचती है. ऐसा करने से आप बीमारियों से भी बचे रहते हैं.

यह भी पढ़े :  Vastu Tips : वास्तु के अनुसार घर के कौन सी जगहों पर जूते नहीं पहनना चाहिए.

रोज सूर्य देव को करें जल का अर्पण :

अगर आपको या परिवार के दूसरे लोगों का काम अक्सर बनते-बनते बिगड़ जाता है. आप कोई नया काम शुरू करना चाह रहे हैं लेकिन उसमें सफल नहीं हो पा रहे हैं. ऐसे में आपको वास्तु शास्त्र (Vastu Shastra) का पालन करते हुए रोज सुबह उठकर तांबे के बर्तन में सूर्य देव को जल अर्पित करना चाहिए. ऐसा करने से सूर्य देव प्रसन्न होते हैं और आपके बिगड़े काम बनने लगते हैं.