sunset due to financial troubles : वरना जीवन भर जूझना पड़ेगा आर्थिक संकटों से सूर्यास्त के बाद भूलकर भी न करें ये 5 काम.

शास्त्रों में सूर्यास्त के बाद कुछ काम निषेध बताए गए हैं. ऐसा करने से जीवन में कई तरह की परेशानियां आती हैं. साथ ही सेहत से जुड़ी समस्याओं का भी सामना करना पड़ता है. इतना ही नहीं आर्थिक परेशानियों से भी गुजरना पड़ता है. आइए जानते हैं कि सूर्यास्त के वक्त कौन से 5 काम नहीं करने चाहिए.

अंतिम संस्कार
गरुड़ पुराण के मुताबिक सूर्यास्त के बाद अंतिम संस्कार करना निषेध है. सूर्यास्त के बाद अंतिम संस्कार करने से मरने वालों को परलोक में कष्ट भोगना पड़ता है. साथ ही अगले जन्म में किसी अंग में खराबी आ जाती है. ऐसे में सूर्यास्त के बाद दाह संस्कार नहीं करना चाहिए.

गरुड़ पुराण के मुताबिक सूर्यास्त के बाद अंतिम संस्कार करना निषेध है. सूर्यास्त के बाद अंतिम संस्कार करने से मरने वालों को परलोक में कष्ट भोगना पड़ता है. साथ ही अगले जन्म में किसी अंग में खराबी आ जाती है. ऐसे में सूर्यास्त के बाद दाह संस्कार नहीं करना चाहिए.

बाल, दाढ़ी और नाखून काटना
शास्त्रों के मुताबिक सूर्यास्त के बाद बाल, नाखून और दाढ़ी नहीं काटना या कटवाना चाहिए. मान्यता है कि ऐसा करने से कर्ज बढ़ता है.

पेड़-पौधे को पानी देना या पत्ते तोड़ना
धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक सूर्यास्त के बाद पेड़-पौधों में पानी देने, पेड़-पौधों के छूना या उसके पत्ते तोड़ना अच्छा नहीं है. माना जाता है कि सूर्यास्त के बाद पेड़-पौधे सो जाते हैं. सूर्यास्त के बाद तुलसी के पौधे को नहीं छूना चाहिए.

स्नान करना
कुछ लोग दो वक्त स्नान करते हैं. सूर्योदय के बाद और सूर्यास्त के बाद. शास्त्रों के मुताबिक अगर सूर्यास्त के बाद स्नान करते हैं तो माथे पर चंदन ना लगाएं. सूर्यास्त के बाद स्नान करने से जीवन में दुर्भाग्य आता है.

यह भी पढ़े :  New Year 2022 : भगवत गीता के ये मूलमंत्र जीवन में उतारें नए साल में संकल्प लें.

दही का सेवन
पुराणों के मुताबिक सूर्यास्त के बाद दही नहीं खाना चाहिए. दरअसल सूर्यास्त के बाद दही का सेवन करने से सेहत से संबंधित परेशानियों का सामना करना पड़ता है.