Shubh Muhurat 2022 : यहां देखें विवाह, गृह प्रवेश, मुंडन के शुभ समय 29 मई से 04 जून तक के मुहूर्त.

मई 2022 का समापन और जून 2022 का प्रारंभ 29 मई से 04 जून तक वाले सप्ताह में हो रहा है. यह सप्ताह मई के 3 दिन और जून के 4 दिन से मिलकर बना है. इस सप्ताह में विवाह, गृह प्रवेश, मुंडन, नामकरण, खरीदारी आदि के लिए कुछ शुभ मुहूर्त (Shubh Muhurat) हैं. यदि आपको इस सप्ताह में कोई मांगलिक कार्य करना है, तो आप यहां पर इस सप्ताह के शुभ मुहूर्त देख सकते है.

29 मई से 04 जून तक के शुभ मुहूर्त

विवाह मुहूर्त 2022
मई और जून के इस संयुक्त सप्ताह में विवाह के लिए केवल दो दिन ही शुभ मुहूर्त प्राप्त हो रहे हैं. इसमें भी संयोग देखिए कि शुभ विवाह के लिए एक मुहूर्त मई के अंतिम दिन 31 मई को है और दूसरा मुहूर्त जून माह के पहले ही दिन 01 जून को है. आप अपनी सुविधानुसार कोई भी एक तारीख तय कर सकते हैं.

गृह प्रवेश मुहूर्त 2022
29 मई से 04 जून के बीच इस सप्ताह में गृह प्रवेश के लिए सिर्फ एक दिन ही शुभ मुहूर्त है. यदि आपको इस सप्ताह में अपने नए भवन में गृह प्रवेश करना है तो आप 30 मई दिन सोमवार को शाम 05:00 बजे से अगले दिन प्रात: 05:24 बजे के बीच किसी भी समय कर सकते हैं. इस दिन सोमवती अमावस्या, वट सावित्री व्रत और शनि जयंती का शुभ संयोग है.

मुंडन मुहूर्त 2022
मई जून के इस संयुक्त सप्ताह में आपको अपने बच्चे का मुंडन संस्कार कराना है तो इसके लिए चार दिन शुभ मुहूर्त है. ये सभी मुहूर्त जून में हैं. आप 1 जून, 2 जून, 3 जून और 4 जून में से किसी भी एक दिन मुंडन संस्कार करा सकते हैं.

यह भी पढ़े :  AAJ KA PANCHANG : 26 मार्च 2022: आज करें शनि देव की पूजा जानें शुभ-अशुभ समय एवं राहुकाल.

खरीदारी मुहूर्त 2022
29 मई से 04 जून के मध्य आपको कोई नया मकान, दुकान, वाहन, प्लॉट, फ्लैट या अन्य प्रॉपर्टी खरीदनी है, तो इसके लिए शुभ दिन 31 मई और 04 जून हैं. इन दो दिनों में आप अपनी इस प्रॉपर्टी की खरीदारी के लिए बयाना दे सकते हैं.

नामकरण मुहूर्त 2022
इस सप्ताह में आपको अपने बच्चे का नामकरण संस्कार करना है, तो इसके लिए चार दिन शुभ हैं. आप 30 मई, 31 मई, 01 जून और 03 जून में से किसी भी दिन नामकरण संस्कार करा सकते हैं.

जनेऊ मुहूर्त 2022
29 मई से 04 जून के बीच आप अपने बच्चे का उपनयन संस्कार या जनेऊ कराना चाहते हैं, तो आपको निराशा हाथ लगेगी क्योंकि इस सप्ताह में इसके लिए कोई भी शुभ मुहूर्त नहीं है.