Shani Vakri 2022 : ये लोग रहें सतर्क शुरु होने वाली है शनि की 141 दिन की उल्टी चाल.

शनि की अपने ही राशि कुंभ में उल्टी चाल शुरु होने वाली है. 05 जून को कुंभ राशि में शनि वक्री (Shani Vakri) होंगे. 05 जून दिन रविवार को तड़के 03 बजकर 16 मिनट पर शनि की उल्टी चाल (Saturn Retrograde) प्रारंभ होगी. कुंभ राशि में शनि 05 जून से लेकर 23 अक्टूबर की सुबह तक वक्री रहेंगे. 23 अक्टूबर को सुबह 09 बजकर 37 मिनट पर मार्गी हो जाएंगे. इस प्रकार से देखा जाए तो शनि कुल 141 दिन तक उल्टी चाल चलेंगे.

शनि के वक्री होने से सभी 12 राशियों पर प्रभाव पड़ना निश्चित है. शनि का कुंभ राशि में प्रवेश 29 अप्रैल को हुआ था. शनि का राशि परिवर्तन अपने ही घर मकर से कुंभ राशि में हुआ था. शनि के वक्री होने से किन राशि के जातकों को सतर्क रहना होगा. ग्रह जब वक्री होते हैं, तो अधिकतर उनके दुष्प्रभाव देखने को मिलते हैं.

शनि वक्री 2022 ये लोग रहें सावधान

मेष: शनि के वक्री होने से मेष राशि के जातकों कों धन हानि हो सकती है. हो सकता है कि किया गया निवेश से लाभप्रद न हो या फिर किसी को उधार दिया गया धन वापस न मिले. इस स्थिति में आपकी राशि के लोगों को आर्थिक फैसलों को करते समय बहुत ही अच्छे तरीके से सोच विचार कर लेना चाहिए.

शनि की उल्टी चाल का असर आपके दांपत्य जीवन पर भी पड़ सकता है. ऐसे में जीवनसाथी के साथ वाद विवाद से बचें और वाणी पर नियंत्रण रखें. संयम से काम लें, वरना तिल का ताड़ बनते देर नहीं लगती है. इससे रिश्ता ही प्रभावित होगा.

यह भी पढ़े :  SHANI MARGI :11 अक्टूबर से शुरू हुई शनि की मार्गी चाल, अगले 6 महीने आपकी जिंदगी में होंगे ये बदलाव

कर्क: शनि की उल्टी चाल के कारण कर्क राशि के जातकों को वाहन चलाते समय विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है. इन 141 दिनों में आपका आर्थिक पक्ष भी प्रभावित हो सकता है. इस वजह से आप फिजूलखर्जी पर नियंत्रण रखें, वरना आर्थिक स्थिति खराब हो सकती है.

शनि के वक्री होने से आपके कार्य भी प्रभावित हो सकते हैं. ऐसा भी हो सकता है कि आपके काम अटक जाएं. बनते हुए काम बिगड़ जाएं.

मकर: इस राशि के स्वामी ग्रह शनि हैं. इस राशि के जातकों पर साढ़ेसाती का प्रभाव है. शनि की उल्टी चाल के कारण आपको करियर में नई चुनौतियां आ सकती हैं. इस स्थिति से निपटने के लिए आप पूरी लगन और मेहनत से अपना काम करते रहें. अपने वाणी और गुस्से पर संयम रखें.

वाद विवाद की स्थिति से बचें, नहीं तो आपके बॉस या फिर बड़े अधिकारियों से संबंध प्रभावित हो सकते हैं. इसका असर आपके करियर पर हो सकता है. धन हानि भी हो सकती है. इस समय में आपको बड़े ही सावधानी के साथ आर्थिक पक्ष को संभाले रखना है.

कुंभ: इस राशि के स्वामी भी शनि हैं और इस राशि में ही गोचर कर रहे हैं. शनि के वक्री होने से शादी विवाह के मामले में नई मुश्किलें आ सकती हैं. ऐसे में आपको क्या बोलना है, क्या प्रतिक्रिया देनी है, यह सब संयमित होकर करना होगा.

वाणी पर नियंत्रण रखें, नहीं तो वाद विवाद से बात बिगड़ सकती है. ऐसा करने से बनता हुआ काम भी बिगड़ जाएगा. इससे हानि हो सकती है. कहीं पर भी पैसा सोच समझकर ही निवेश करें.