Sawan Rudrabhishek : जानकर आप भी जरूर करेंगे सावन में रुद्राभिषेक करने के होते हैं इतने लाभ.

सावन के महीने में रुद्राभिषेक करने का शास्‍त्रों में विशेष महत्‍व बताया गया है। अगर आप भगवान शिव के 12 ज्‍योतिर्लिंग में से किसी एक में जाकर रुद्राभिषेक करें तो यह सबसे श्रेष्‍ठ होगा और अगर ऐसा कर पाना आपके लिए संभव न हो तो आप अपने घर के पास ही शिव मंदिर में पुरोहितजी के मंत्रोच्‍चारण के साथ भी रुद्राभिषेक करवा सकते हैं। आइए आपको बताते हैं इसके लाभ…

जानें किन चीजों से कर सकते हैं रुद्राभिषेक
सावन का महीना या कहें श्रावण मास भगवान शिव का सबसे प्रिय मास होता है। कहते हैं कि इस महीने में शिव भक्ति से भक्‍तों को अद्भुत शक्ति मिलती है और सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। सावन के महीने विभिन्‍न द्रव्‍यों यानी कि तरल चीजों से शिवजी का रुद्राभिषेक करने के आश्चर्यजनक लाभ होते हैं। माना जाता है कि सावन में रुद्राभिषेक करने से हमारी कुंडली के अशुभ ग्रहों के प्रभाव भी कम होते हैं और हमें शिवत्‍व की प्राप्ति होती है। आइए जानते हैं कि किस पदार्थ से रुद्राभिषेक करने के क्‍या लाभ हैं ?

जल से रुद्राभिषेक
शिवजी को सबसे प्रिय जल है। सावन के महीने में जल से रुद्राभिषेक करने पर आपके घर में खुशहाली आती है। अगर घर में कोई बुखार से पीड़ित है तो उसकी हालत में सुधार होता है।

दही से रुद्राभिषेक
सावन के महीने में दही से शिवजी का अभिषेक करने से आपको हर प्रकार के सुख की प्राप्ति के साथ ही दांपत्‍य जीवन में भी खुशहाली आती है।

गन्ने के रस से रुद्राभिषेक
लक्ष्‍मी प्राप्ति के लिए सावन के महीने में गन्ने के रस से रुद्राभिषेक करवाया जाना सर्वश्रेष्‍ठ माना गया है।

यह भी पढ़े :  Pitru Paksha 2022 : आपको भी आते हैं पूर्वजों के ऐसे सपने जानें किस बात का देते हैं संकेत पितृ पक्ष में.

इत्र से रुद्राभिषेक
जो लोग किसी प्रकार की मानसिक बीमारी या फिर अनिद्रा की समस्‍या से जूझ रहे हैं उन्‍हें सावन के महीने में इत्र से शिवजी का रुद्राभिषेक करना चाहिए।

दूध से रुद्राभिषेक
सावन के प्रत्‍येक सोमवार को शिवजी का रुद्राभिषेक दूध से करने से संतान प्राप्ति की मनोकामना पूर्ण होती है।

गंगाजल से रुद्राभिषेक
गंगाजल से रुद्राभिषेक करने से जातक को मोक्ष की प्राप्ति होती है और जन्‍म-मरण के चक्र से मुक्ति मिलती है।

सरसों के तेल से रुद्राभिषेक
मान्‍यता है कि सावन में सरसों के तेल से रुद्राभिषेक करने से शनि की अशुभ दशा में राहत मिलती है।

शहद से रुद्राभिषेक
शहद से शिवजी का रुद्राभिषेक करने से व्‍यक्ति को सम्‍मान और ऊंचा औहदा प्राप्त होता है। इसके साथ ही शहद से शिवजी का अभिषेक करने से शुक्र ग्रह के अशुभ प्रभाव समाप्‍त होते हैं।

घी से रुद्राभिषेक
ऐसी मान्‍यता है कि घी से रुद्राभिषेक करने से आपको अच्‍छी सेहत ही प्राप्ति होती है। इसके साथ ही धन समृद्धि भी बढ़ती है।