Puja Ritual : ये 6 गलतियां भूलकर भी न करें पूजा करते समय नहीं मिलेगा पूजा का फल.

ऐसा माना जाता है कि जब मनुष्य सच्चे दिल से भगवान की पूजा अर्चना करता है तो उसकी सभी मनोकामना जल्द पूर्ण होती है। हिंदू धर्म में पूजा पाठ का अधिक महत्व है। कई ग्रंथों में बताया गया है कि पूजा पाठ करते समय कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। कहते हैं अगर छोटी सी भी गलती हो जाए तो पूजा का पूरा फल प्राप्त नहीं हो पाता है। तो आइए आज जानते हैं पूजा के दौरान आपको किन बातों का विशेष ख्याल रखना चाहिए…

जानें भगवान को क्या न चढ़ाएं
इस बात का हमेशा ख्याल रखें की पूजा के समय भगवान विष्णु को चावल, गणेश जी को तुलसी, दुर्गा माता को दूर्वा और सूर्य भगवान को बिल्वपत्र नहीं चढ़ाना चाहिए।

दीया बुझना नहीं चाहिए
जब भी पूजा करें तो ध्यान रहे कि देवी देवताओं के लिए प्रज्वलित किया गया दीपक कभी भी बुझाना नहीं चाहिए।

भगवान को ऐसी चीजें न चढ़ाएं
भगवान को कभी भी अपने हाथ में धारण किया गया पुष्प, ताम्र पात्र में रखा गया चंदन और प्लास्टिक आदि के बर्तन से गंगा जल अर्पित नहीं करना चाहिए। तांबे या कासे के पात्र में ही जल अर्पित करें।

पत्नी को दाहिने भाग बैठाएं
जब कभी भी घर में पूजा हवन आदि का आयोजन किया जाए तो ध्यान रखें की पत्नी को दाहिने भाग में बैठना चाहिए। जबकि अभिषेक और ब्राह्मणों के पैर धुलवाते और सिंदूर दान करते समय पत्नी को बाएं तरफ रखना चाहिए।

समृद्धि के लिए ऐसे दीप जलाएं
पूजा पाठ में इस बात का विशेष ख्याल रखना चाहिए कि कभी भी एक दीपक को दूसरे दीपक से नहीं जलाना चाहिए। शास्त्रों के अनुसार, ऐसा करने से मनुष्य दरिद्र हो जाता है।

यह भी पढ़े :  Aaj Ka Panchang ; 08 अप्रैल 2022 : आज है महासप्तमी, जानें शुभ-अशुभ समय एवं राहुकाल.

किसी की अंगूठी न पहने
किसी भी तरह के मांगलिक कार्यों में इस बात का भी विशेष ख्याल रखें कि कभी किसी दूसरे की अंगूठी धारण नहीं करनी चाहिए। सोने की अंगूठी न होने पर कुश की अंगूठी बनाकर धारण कर सकते है।