PARAS PEEPAL : पारस पीपल तंत्र-मंत्र टोने टोटकों के प्रभाव को दूर करता हैं.

आपने अपने आसपास पीपल (Peepal) के तमाम वृक्ष देखे होंगे, लेकिन पारस पीपल (Paras Peepal) के बारे में आप शायद ही जानते हों. पारस पीपल जंगली पेड़ है, जिसकी पत्तियां देखने में पीपल की तरह नजर आती हैं, लेकिन ये उनसे एकदम अलग होता है. अगर आप नजदीक से इसे देखेंगे तो आपको दोनों के बीच का फर्क साफ नजर आ जाएगा. पारस पीपल का पेड़ पीपल जितना विशाल नहीं होता. इसमें पीले रंग के फूल आते हैं और इसकी पत्तियां पीपल की पत्तियों की तुलना में ज्यादा गोलाई लिए हुए होती हैं. धार्मिक रूप से बात करें तो पारस पीपल का इस्तेमाल तंत्र-मंत्र (Tantra-Mantra), टोने टोटकों के लिए काफी किया जाता है. वहीं अगर किसी व्यक्ति पर तंत्र-मंत्र, टोने टोटकों का प्रभाव हो, तो ये उसके प्रभाव को भी दूर करने की क्षमता रखता है. जानिए पारस पीपल के कुछ उपायों के बारे में.

तंत्र-मंत्र, टोने टोटकों का प्रभाव दूर करने के लिए
अगर आपके घर का कोई व्यक्ति तंत्र-मंत्र, टोने टोटकों के कारण तमाम परेशानियां झेल रहा है या घर में कोई लंबे समय से बीमार है, इलाज के बावजूद हालत में सुधार नहीं हो रहा, तो आप पारस पीपल का प्रयोग करके देखें. ऐसी स्थिति में पीड़ित व्यक्ति के हाथ से पारस पीपल के 21 पत्तों पर ‘ॐ हं हनुमतै नमः’ लिखवाएं. इसके बाद हनुमान जी से सभी संकट दूर करने की प्रार्थना करते हुए उन पत्तों को उसके हाथ से जल में प्रवाहित करवा दें. माना जाता है कि इस उपाय के प्रभाव से स्थिति में काफी सुधार हो सकता है.

यह भी पढ़े :  Want to become rich in 2022? में बनना चाहते हैं अमीर? घर ले आएं इनमें से एक चीज, दोनों हाथों से समेटेंगे धन.

बृहस्पति से जुड़ी परेशानियों को दूर करने के लिए
शादी विवाह, वैवाहिक जीवन, शिक्षा, धन आदि के लिए कुंडली में गुरू बृहस्पति का मजबूत होना बहुत जरूरी है. अगर आपकी कुंडली में बृहस्पति कमजोर स्थिति में है, तो आपको हर रोज पारस पीपल के पेड़ में जल देना चाहिए. साथ ही भगवान विष्णु और बृहस्पति के मंत्र का जाप करना चाहिए. इससे स्थिति सुधर सकती है. शादी विवाह, शिक्षा में आने वाली अड़चनें दूर होंगी और वैवाहिक जीवन सुखमय होगा.

आर्थिक संकट दूर करने के लिए
अगर आपकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है, तो भी आप पारस पीपल के कुछ उपाय आजमा सकते हैं. कहा जाता है कि इस पेड़ के 108 पत्ते लेकर उस पर भगवान विष्णु का नाम या उनका कोई मंत्र लिखें. इसके बाद लक्ष्मी नारायण का ध्यान करते हुए उनसे अपनी समस्याओं को दूर करने की प्रार्थना करें और इन पत्तों को जल में प्रवाहित कर दें. इससे आपके घर में आय के साधन बढ़ने लगेंगे और कुछ समय में हालात बेहतर हो जाएंगे.

औषधि के तौर पर भी इस्तेमाल होता है पारस पीपल
पारस पीपल में तमाम औषधीय तत्व पाए जाते हैं, इसलिए आयुर्वेद में इसके पत्तों और फूलों का इस्तेमाल औषधि के तौर पर होता है. कहा जाता है कि पारस पीपल की मदद से व्यक्ति की नशे की लत को भी छुड़ाया जा सकता है. लेकिन इसका इस्तेमाल हमेशा किसी आयुर्वेद विशेषज्ञ की सलाह से ही करना चाहिए वरना आपको इसके तमाम साइड इफेक्ट्स भी झेलने पड़ सकते हैं.