Mangal Gochar 2022 : इन राशियों को बंपर धनलाभ के योग अगले महीने मिथुन राशि में वक्री होंगे मंगल देव.

Vakri Mangal Gochar 2022: ज्योतिष शास्त्र में कुछ खास ग्रहों के राशि परिवर्तन का जातकों पर विशेष प्रभाव माना जाता है। अगले महीने मंगल देव यानी मंगल ग्रह मिथुन राशि में गोचर करेंगे। 15 दिनों में इसी राशि में वो वक्री भी हो जाएंगे। ऐसे में उनकी इस चाल का कुछ राशियों के जातकों पर बहुत शुभ प्रभाव पड़ने वाला है। चलिए पहले जानते हैं कि मंगल का गोचर कब से हो रहा है। हिन्दू पंचांगों के मुताबिक मंगल देव 16 अक्टूबर को मिथुन राशि में गोचर करेंगे। वहीं 30 अक्टूबर 2022 को 6.19 मिनट पर वक्री होंगे और नवंबर की 13 तारीख तक इसी अवस्था में रहेंगे। इस दौरान कुछ राशि के जातकों को लाभ होगा, तो कुछ राशियों के जातकों को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। आइए जानते हैं इस अवधि में किन राशि के जातकों को शुभ फल की प्राप्ति होगी।

इन राशियों को होगा लाभ

मेष राशि

इस राशि के मंगल लग्न भाव और अष्टम भाव के स्वामी हैं। इस गोचर के दौरान मंगल आपके तीसरे भाव में मौजूद होंगे। इस दौरान आपक साहस और धैर्य का परिचय देंगे और आपके जीवन में काफी सकारात्मक परिणाम आएंगे। कार्यक्षेत्र में सबी आपकी प्रशंसा करेंगे। भाग्य आपका साथ देगा और नौकरीपेशा जातकों के लिए पदोन्नति और आमदनी में वृद्धि के योग बन रहे हैं।

वृषभ राशि

इस राशि के लिए मंगल द्वादश और सप्तम भाव के स्वामी होते हैं। इस अवधि में मंगल आपके दूसरे भाव में गोचर करेंगे। दूसरा भाव बचत, वाणी और कुटुंब का होता है। इस दौरान आपके आर्थिक में बेहतरी के योग बन रहे हैं। आप जहां भी निवेश करेंगे, आपको मुनाफा होगा। लेकिन बेकार के खर्चों पर नियंत्रण रखें। कारोबार और खास तौर पर आयात-निर्यात के काम में विशेष लाभ होगा। मंगल की दृष्टि आपके आठवें स्थान पर होगी, इसलिए स्वास्थ्य को लेकर सचेत रहें।

यह भी पढ़े :  new year to wish for children ; नए साल में करे ये खास उपाय संतान प्राप्ति के लिए.

सिंह राशि

मंगल कर्क और सिंह राशि के लिए योगकारक होता है। सिंह राशि के जातकों के लिए नवम और चतुर्थ भाव के स्वामी हैं और एकादश भाव में गोचर कर रहे हैं। ऐसे में आपके लिए बड़े लाभ के योग बन रहे हैं। इस दौरान आपके हर तरह के निवेश में आपको अच्छा फायदा होगा। धन को आप खर्च भी करेंगे और जीवन में खुशहाली रहेगी। आपकी मेहनत का फल मिलेगा। वेतन वृद्धि के योग भी बन रहे हैं।प्रॉपर्टी या जमीन में निवेश भी फायदेमंद साबित होगा।

कन्या राशि

मंगल देव इस राशि के लिए तीसरे और आठवें भाव के स्वामी होते हैं। अब वे गोचर करते हुए दशम भाव यानी कर्म भाव में विराजमान होंगे। मंगल देव का इस भाव में आना आपको रोजगार के क्षेत्र में प्रबल उन्नति देगा। आर्थिक जीवन में उन्नति के योग बन रहे हैं। चतुर्थ भाव पर दृष्टि की वजह से प्रॉपर्टी या वाहन खरीदने के योग बन रहे हैं। व्यापार या नौकरी में नये अवसर मिलेंगे।

कुंभ राशि

इस राशि के जातकों के लिए मंगल ग्रह तीसरे और दसवें भाव के स्वामी होते हैं और अब गोचर करते हुए पंचम भाव में विरजामान होंगे। पंचम भाव संतान, शिक्षा, बुद्धि, प्रेम संबंधों का होता है। इस गोचर में आपको मंगल के सकारात्मक परिणाम मिलेंगे।आपका कार्यक्षमता में वृद्धि होगी और दूसरों को अपनी योजना समझाने में कामयाब रहेंगे। किसी भी प्रकार के गैरकानूनी या शॉर्टकट तरीके से बचें।