Mahashivratri : 21 लाख दीप जगमगाएंगे महाकाल के शहर में महाशिवरात्रि पर राम जी की नगरी अयोध्या का रिकॉर्ड टूटेगा.

महाशिवरात्रि (Mahashivratri 2022) का पर्व इस बार महाकाल की नगरी उज्जैन (Ujjain) में कुछ खास होगा. शिवरात्रि के मौके पर उज्जैन में शिव ज्योति अर्पणम महोत्सव मनाया जाएगा. महाकाल के दरबार से लेकर क्षिप्रा तट और पूरे शहर में 21 लाख दीप एक साथ जलाए जाएंगे. हर घर में कम से कम 5 दीप रखे जाएंगे. इस दीपोत्सव में शहर के सभी वर्ग, उम्र और समाज के लोग शामिल हो रहे हैं. 17000 से ज्यादा स्वयंसेवक अपना रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं.

महाकाल की नगरी रामलला की नगरी की तर्ज पर जगमगाएगी. मौका होगा शिवरात्रि का. इस महा पर्व पर लाखों दीप जलाए जाएंगे. महाकाल मंदिर, मंगलनाथ, काल भैरव, गढ़ कालिका, सिद्धवट, हरसिद्धि मंदिर सहित पूरे शहर में दीप प्रज्जवलित होंगे. कुल 21 लाख दीप जलाए जाने हैं. इनमें से 13 लाख क्षिप्रा तट पर होंगे. हर घर में 5-5 दिए रोशन करने की भी तैयारी है. इसके लिए उज्जैन नगर निगम ने संकल्प पत्र भरवाए हैं.

17 हजार स्वयं सेवक रहेंगे तैनात
प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने कहा इस बड़े आयोजन के लिए 17000 से ज्यादा स्वयंसेवक रजिस्ट्रेशन करवा चुके हैं. स्वयंसेवी संस्थाओं छात्र खिलाड़ी और सामाजिक संगठनों के साथ संतो को भी इस आयोजन से जोड़ा जाएगा. उज्जैन के रामघाट पर दीप जलाने के लिए ब्लॉक सेक्टर बनाए गए हैं. यहां स्वयंसेवकों को नियुक्त किया जाएगा.

अनूठी होगी छटा
इससे पहले राम की भूमि अयोध्या में बीते साल दीए जलाकर एक रिकॉर्ड बनाया गया था. अयोध्या में 9.41 लाख दिए जलाए गए थे और ये गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुआ. इस बार उज्जैन में 21 लाख दीए जलाकर नया रिकॉर्ड बनाने की तैयारी है. मंत्री मोहन यादव ने कहा उज्जैन का सांस्कृतिक और धार्मिक महत्व होने के कारण शिवरात्रि पर अलग छटा देने के लिए यह आयोजन किया जा रहा है. इसमें हर समाज वर्ग के लोग शामिल होंगे.