KHARMAS 2021 : इन 30 दिनों में किए ये खास काम तो बनते हैं तबाही का सबब, जरूर जान लें.

सूर्य सफलता, मान-सम्‍मान और सुख-समृद्धि, आत्‍मविश्‍वास के कारक हैं. लेकिन जब वे धनु राशि में रहते हैं तो वे कमजोर हो जाते हैं. इसे खरमास कहते हैं और इस समय को शुभ कार्यों के लिए वर्जित माना गया है.

सनातन धर्म में हर काम करने के लिए सही समय बताया गया है. यदि अच्‍छे काम भी गलत समय या मुहूर्त में किए जाएं तो वे भी बुरे फल देते हैं. ऐसा ही एक समय होता है खरमास का. इस महीने को शुभ कामों के लिए बहुत अशुभ माना गया है. यह महीना तब लगता है, जब सूर्य धनु राशि में प्रवेश करते हैं. चूंकि सूर्य हर राशि में एक महीने तक रहता है इसलिए धनु में रहने के दौरान सारे शुभ काम बंद रहते हैं. ज्‍योतिष के मुताबिक धनु राशि में रहने के दौरान सूर्य का तेज कम हो जाता है, इस कारण इस दौरान किए गए काम शुभ फल नहीं देते हैं. इस साल खरमास 16 दिसंबर 2021 से शुरू होगा और 14 जनवरी 2022 में खत्‍म होगा.

खरमास में न करें ये काम :

खरमास को मलमास भी कहा जाता है. धर्म और ज्‍योतिष में कुछ ऐसे कामों के बारे में बताया गया है, जिन्‍हें इस महीने में करने के बुरे नतीजे मिलते हैं.

– खरमास में शादी-सगाई जैसे शुभ काम नहीं करने चाहिए. वरना दूल्‍हा-दुल्‍हन के जीवन में मुश्किलें आती हैं. उनका रिश्‍ता मजबूत नहीं बन पाता है.
– खरमास में बहू-बेटी की मायके-ससुराल के लिए विदाई भी नहीं करना चाहिए.

– खरमास में मुंडन संस्कार या यज्ञोपवीत नहीं करना चाहिए.

यह भी पढ़े :  EXPENSIVE ZODIAC : कंजूसी से रहते हैं कोसों दूर इन 4 राशियों के लोग.

– खरमास में नया घर-गाड़ी खरीदना, गृह प्रवेश करना भी अशुभ होता है.

– खरमास में नया व्‍यापार या कोई भी नया काम शुरू न करें. ऐसा करना आपको धन हानि करा सकता है.

– खरमास में गुरु या महिला का अपमान करना, गाय को कष्‍ट देना, जिंदगी में बड़ा संकट ला सकता है.

– खरमास में गेहूं, चावल, सफेद धान, मूंग, जौ, तिल, कटहल, आम, सौंठ, जीरा, आंवला, सुपारी सेंधा नमक नहीं खाना चाहिए. इस महीने में ज्‍वार, बाजरा जैसे मोटे आटे खाना चाहिए.

खरमास में ये काम करने से होगा लाभ :

खरमास या मलमास में कमजोर सूर्य के नकारात्‍मक प्रभाव से बचने के लिए सूर्य देव की आराधना करना चाहिए. इसके अलावा रोजाना आदित्यहृदय स्तोत्र का पाठ करना और विष्णुसहस्त्रनाम का पाठ करना बहुत लाभदायी साबित होता है. खरमास में सूर्य के साथ-साथ भगवान विष्‍णु की पूजा-आराधना करने से सुख-समृद्धि बढ़ती है. इसके अलावा रोज तुलसी पूजा करने से भी बहुत लाभ होगा.