Hanuman Jayanti 2022 : ऐसे करें शनिदेव को प्रसन्‍न हनुमान जयंती पर बन रहा है विशेष संयोग.

चैत्र मास की पूर्णिमा को हर साल हनुमानजी की जयंती मनाई जाती है और इस बार यह तिथि 16 अप्रैल को पड़ रही है। इसी दिन मां अंजनी के गर्भ से रामभक्‍त हनुमान का जन्‍म हुआ था। इस बार हनुमान जयंती शनिवार को पड़ने की वजह से यह और भी खास मानी जा रही है। मंगलवार और शनिवार को जब हनुमान जयंती होती है तो इसका महत्‍व और भी बढ़ जाता है। इस वजह से इस बार की हनुमान जयंती शनि को प्रसन्‍न करने के लिहाज से भी महत्‍वपूर्ण मानी जा रही है।

शनिवार के अलावा ये भी खास योग

इस बार हनुमान जयंती ऐसे दिन मनाई जाएगी, जब पूरे दिन सुबह से रात तक रवि योग और हर्षण योग लगे रहेंगे। इन शुभ योग के साथ ही इस दिन हस्‍त और चित्रज्ञ नक्षत्र भी रहेगा।

शनि की महादशा से मुक्ति पाने के उपाय

ज्‍योतिष और धर्म कर्म के जानकार लोग बताते हैं कि हनुमानजी की पूजा करने वालों पर शनि महाराज बुरी नजर नहीं डालते और ऐसे लोग शनि की महादशा के अशुभ प्रभाव से भी बचे रहते हैं। इस बार हनुमान जयंती शनिवार के दिन पड़ने से यह बजरंगबली और शनिदेव दोनों को ही समर्पित मानी जा रही है। जिन लोगों पर शनि की साढ़ेसाती या फिर शनि की ढैय्या चल रही हो, वो इस दिन कुछ खास उपाय करें तो उन्‍हें शनि की महादशा में लाभ होगा। आइए जानते हैं क्‍या हैं ये उपाय…

हनुमान जयंती के दिन बजरंगबली के मंदिर में जाएं और भगवान के सामने चमेली के तेल का दीपक जलाएं। इस दिन मंदिर में बैठकर 11 बार हनुमान चालीसा का पाठ करें। ऐसा माना जाता है कि इस उपाय से हनुमानजी प्रसन्‍न होते हैं और शनि के दोष में राहत मिलती है।

यह भी पढ़े :  Shani Rashi Parivartan 2022: 30 साल बाद शनि का राशि परिवर्त्तन जानिए कौन सी राशि पर पड़ेगा गहरा असर.

हनुमान जयंती पर मंदिर में गुलाब की माला चढ़ाएं और पीपल के 11 पत्‍ते लेकर उस पर श्रीराम नाम लिखकर उसे हनुमानजी को चढ़ाएं। ऐसा करने से भी शनि की दशा में राहत मिलती है।

शनि दोष को दूर करने के लिए हनुमानजी के सामने सरसों के तेल का दीया जलाएं ओर इसमें 2 लौंग भी रखें। फिर इस दीपक से हनुमानजी की आरती करें।

हनुमान जयंती के दिन हनुमान मंदिर में एक पानी वाला नारियल लेकर जाएं और इसे हनुमानजी की मूर्ति के सामने अपने सिर से 7 बार उबारकर वहीं तोड़ दें। इस उपाय को करने से आपके जीवन में आ रही सभी प्रकार की बाधाएं दूर होती हैं।

हनुमानजी को चने और बूंदी का भोग बेहद प्रिय माना जाता है। हनुमान जयंती के दिन मंदिर में जाकर बूंदी और चने का भोग लगाकर इसे मंदिर में ही बांट आएं। ऐसा करने से भी बजरंगबली प्रसन्‍न होकर आपको सभी परेशानियों से दूर रखते हैं।