Ganesh Jayanti 2022 : गणेश जयंती पर बने हैं दो शुभ योग जानें पूजा का मुहूर्त एवं महत्व.

Ganesh Jayanti 2022: आज माघ माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि है. आज के दिन विनायक​ चतुर्थी (Vinayak Chaturthi) का व्रत रखते हैं. इस तिथि को विघ्नहर्ता गणेश जी का जन्म (Lord Ganesh Birthday) हुआ था, इसलिए आज गणेश जयंती है. माता पार्वती ने एक आज्ञाकारी पुत्र की कामना से गणेश जी को उत्पन्न किया था. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, जो लोग आज के दिन व्रत रहते हैं और गणेश जी की पूजा करते हैं, तो उनकी भी संतान चाह की अभिलाषा पूर्ण होती है. आज गणेश जयंती पर दो शुभ योग बन रहे हैं. इस योग में किए गए मांगलिक कार्यों में सफलाता प्राप्त होती है. आइए जानते हैं गणेश जयंती के पूजा मुहूर्त (Puja Muhurat) एवं योग (Yog) के बारे में.

गणेश जयंती 2022 शुभ योग
माघ शुक्ल चतुर्थी तिथि आज प्रात: 04 बजकर 38 मिनट पर शुरु हुई है और कल 05 फरवरी को प्रात: 03 बजकर 47 मिनट तक रहेगी. गणेश जयंती पर शिव योग और रवि योग का सुंदर संयोग बना है. इस दिन शिव योग शाम 07 बजकर 10 मिनट तक है और रवि योग का प्रारंभ सुबह 07 बजकर 08 मिनट से हो रहा है. यह योग दोपहर 03 बजकर 58 मिनट तक है. आज की विनायक चतुर्थी शिव एवं रवि योग में शुभता प्रदान करने वाली है.

गणेश जयंती 2022 पूजा मुहूर्त
जो लोग आज गणेश जयंती का व्रत हैं. उन लोगों को गणेश जी की पूजा दिन में 11:30 बजे से लेकर दोपहर 01:41 बजे के मध्य संपन्न कर लेना चाहिए. यह गणेश जयंती की पूजा का शुभ मुहूर्त है. इस दिन का शुभ मुहूर्त भी दोपहर 12:13 बजे से दोपहर 12:57 बजे तक है.

यह भी पढ़े :  Important Puja tips: पूजा में क्‍यों जलाई जाती हैं अगरबत्ती-धूपबत्ती? जानिए कितना गहरा है भगवान से इसका संबंध

गणेश जयंती 2022 पंचांग :

सूर्योदय: प्रात: 07:08 बजे

सूर्यास्त: शाम 06:03 बजे

चंद्रोदय: सुबह 09:23 बजे

चंद्रास्त: रात 09:23 बजे

राहुकाल: दिन में 11:13 से दोपहर 12:35 बजे तक

गणेश जयंती का महत्व
गणेश जयंती के दिन गणेश जी का जन्मोत्सव मनाते हैं. इस दिन गणेश जी की पूजा करने से मनोकामनाएं पूरी होती हैं, संकटों का समाधान होता है, सुख, सौभाग्य एवं शुभता में वृद्धि होती है. काय बिना किसी विघ्न बाधा के पूरे होते हैं.