Falgun Amavasya 2022 : वरना साल भर तक झेलना पड़ेगा पितृ दोष अगर फाल्गुन अमावस्या के दिन गलती से भी करेंगे ये काम.

Falgun Amavasya 2022: फाल्गुन अमावस्या पर घर की सुख-शांति के लिए व्रत रखा जाता है. फाल्गुन अमावस्या इस बार 2 मार्च, बुधवार के दिन है. पंचांग के मुताबिक इस बार फाल्गुन अमावस्या पर शिव और सिद्धि का योग बन रहा है. मान्यता है कि इन दोनों खास योगों में की गई पूजा का दोगुना फल प्राप्त होता है. इस दिन पितरों की आत्मा के लिए तर्पण किया जाता है. ऐसे में जानते हैं कि फाल्गुन अमावस्या का शुभ मुहूर्त क्या है और इस दिन क्या नहीं करना चाहिए.

फाल्गुन अमावस्या शुभ मुहूर्त (Falgun Amavasya 2022 Shubh Muhurat)
पंचांग के मुताबिक फाल्गुन अमावस्या की शुरुआत 2 मार्च सुबह से पहले रात 1 बजकर 3 मिनट से हो रही है. इस वक्त महाशिवरात्रि का सामापन होगा. वहीं फाल्गुन अमावस्या तिथि का समापन 2 मार्च को रात 11 बजकर 04 मिनट पर होगा. उदया तिथि के मुताबिक फाल्गुन अमावस्या का व्रत 2 मार्च को रखा जाएगा.

फाल्गुन अमावस्या के दिन क्या ना करें (What not Do on Falgun Amavasya)
-फाल्गुन अमावस्या के दिन दिन में भूलकर भी सोना नहीं चाहिए. साथ ही देर तक नहीं सोना चाहिए. इसके अलावा सूर्य उदय से पहले उठना चाहिए.

इस दिन घर में तामसिक भोजन नहीं बनना चाहिए. साथ ही लहसुन, प्याज, मांस-मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए. इस दिन सात्विक भोजन करना अच्छा माना गया है.

-फाल्गुन अमावस्या के दिन व्रती को नमक का सेवन नहीं करना चाहिए. अगर संभव हो तो इस इस दिन उपवास करें. इसके साथ ही घर में अंधेरा नहीं रखना चाहिए. खासतौर पर शाम के समय घर में रोशनी अवश्य करें.

यह भी पढ़े :  TODAY HAPPY BIRTHDAY : 26 मार्च 2022 : आपका जन्मदिन

इस दिन घर आए किसी भी इंसान को खाली नहीं देना चाहिए. अमावस्या के दिन दान करना अच्छा माना गया है. इसके अलावा इस दिन पितर के निमित्त तर्पण करना चाहिए.

-फाल्गुन अमावस्या के दिन काले रंग के वस्त्रों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. यहां हल्के रंग के साफ वस्त्र पहनना चाहिए. इसके अलावा अमावस्या के दिन क्रोध करने से परहेज करना चाहिए. साथ ही ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए.