Shani Dev Remedies: बहुत भारी पड़ सकती हैं शनि देव की पूजा में की गईं गलतियां, जरूर जान लें ये नियम

शनि देव (Shani Dev) की पूजा करते समय कुछ जरूरी नियमों का ध्‍यान रखना बहुत जरूरी है, वरना पूजा में की गईं गलतियों (Mistakes in Puja) के कारण बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है.

कर्मों के मुताबिक फल देने वाले शनि देव (Shani Dev) की टेढ़ी नजर से बचकर रहना ही बेहतर होता है. वे झूठ बोलने वाले, बुरी आदतें रखने वाले लोगों को बुरा फल देते हैं, वहीं ईमानदार लोगों को रुपया-पैसा, सम्‍मान दिलाते हैं. लिहाजा ज्‍योतिष (Astrology) में शनि की साढ़े साती या ढैय्या के दौरान संबंधित राशि वाले जातकों को बहुत संभलकर चलने की सलाह दी जाती है. साथ ही कई उपाय भी सुझाए गए हैं.

शनिवार (Saturday) शनि देव को समर्पित है इसलिए शनि के उपाय (Remedies) इसी दिन करना उचित होता है. इसके अलावा साल में पड़ने वाले कई खास मौकों पर भी शनि के उपाय करके अच्‍छे फल पाए जा सकते हैं. लेकिन एक बात समझ लेना जरूरी है कि शनि देव की पूजा में कोई गड़बड़ी न हो, वरना यह बहुत भारी पड़ सकती है.

शनि की पूजा में न करें गलतियां :

शनि देव की पूजा में कोई गलती नहीं करनी चाहिए. बल्कि शनिवार का व्रत (Saturday Fast) रखने और शनि देव की पूजा करने के सारे नियम (Rules) पहले ही अच्‍छे से समझ लेने चाहिए. इसके अलावा शनि के बुरे असर को दूर करने के उपाय भी सावधानी से करने चाहिए. जैसे शनि को तेल चढ़ाना या शनि से संबंधित पेड़ों की पूजा करना.

इन बातों का रखें ध्यान :

– शनिवार के दिन शनि देव की मूर्ति पर या पीपल के पेड़ पर तेल अर्पित करते समय ध्‍यान रखें कि तेल मूर्ति पर ही चढ़े, ना कि यहां-वहां गिरे. यदि तेल अर्पित करना संभव न हो तो गरीब-जरूरतमंदों को तेल दान कर दें.

यह भी पढ़े :  Pithori Amavasya SEPTEMBER 2021 : कब है भाद्रपद अमावस्या, जानें पूजा विधि, परंपराएं और शुभ मुहूर्त.

– कभी भी शनि देव के सामने खड़े होकर दर्शन ना करें, ना ही सामने खड़े होकर उन्‍हें तेल चढ़ाएं. शनि की सीधी नजर कभी आप पर नहीं पड़नी चाहिए.

– बेहतर होगा कि शनि देव के ऐसे मंदिर में दर्शन करें जहां वे मूर्ति की बजाय शिला रूप में स्‍थापित हों. इसके अलावा पीपल के पेड़ पर तेल चढ़ाना, दीपक जलाना भी अच्‍छा तरीका है.

– शनिवार के दिन जूते-चप्‍पल, तेल आदि शनि से जुड़ी चीजें न खरीदें. बल्कि इस दिन चमड़े के जूते-चप्पल जरूरतमंदों को दान करें.