PITRU PAKSHA 2021 पितृ पक्ष में इन संकेतों से जानें पूर्वज खुश हैं या नहीं, वर्ना हो सकता है बड़ा नुकसान

Pitru Paksha 2021: हिंदू धर्म की मान्यता के अनुसार, पितृ पक्ष में श्राद्ध और तर्पण करके पितरों को खुश किया जाता है. इसके लिए ब्राह्मण, कौआ और गाय को भोजन खिलाया जाता है.

इस समय पितृ पक्ष (Pitru Paksha 2021) चल रहा है. पितृ पक्ष 20 सिंतबर से 6 अक्टूबर तक चलेगा. हिंदू धर्म में पूर्वजों की शांति के लिए पितृ पक्ष में तर्पण और श्राद्ध (Shraddh) किया जाता है. लेकिन आपके तर्पण से आपके पूर्वज खुश हैं या नहीं, ये जानना बहुत जरूरी है क्योंकि अगर आपके पितर आपसे खुश नहीं हैं तो आपको बड़ा नुकसान हो सकता है. धन हानि की संभावना भी रहती है.

 

पितृ पक्ष को लेकर विष्णु पुराण में क्या कहा गया है?

जान लें कि पितृ पक्ष में कौवे का बहुत महत्व होता है. विष्णु पुराण (Vishnu Puran) में श्राद्ध पक्ष (Shraddh 2021) में कौवे को भोजन करवाने की बात कही गई है. कौआ पितरों का प्रतीक माना जाता है. पितृ पक्ष के दौरान आप कौवे की मदद से जान सकते हैं कि आपके पूर्वज आपसे प्रसन्न हैं या नहीं.

ये हैं पूर्वजों के खुश होने के संकेत

बता दें कि श्राद्ध पक्ष में अगर आपके घर की छत पर कौआ चोंच में फूल-पत्ती लेकर बैठता है तो इसका मतलब है कि पूर्वज आपसे खुश हैं और आपकी मनोकामना पूरी होगी. इसके अलावा अगर गाय की पीठ पर बैठकर कौआ चोंच रगड़ता हुआ दिखे तो आपको खाने में स्वादिष्ट खाना मिलता है. अगर कौआ चोंच में सूखा तिनका लिए हुए दिखता है तो आपको धन लाभ होगा. अगर कौआ अनाज के ढेर पर बैठा हुआ दिखे तो आपकी आर्थिक समस्या दूर होगी. अगर कौआ सुअर की पीठ पर बैठा हुआ दिखता है तो बिजनेस में बड़ा फायदा होगा.

यह भी पढ़े :  SHARADH PURV श्राद्ध पर्व के 8वें दिन बरसते हैं गजलक्ष्मी के आशीर्वाद, आजमाएं यह उपाय

अगर कौआ दाईं ओर से उड़कर बाईं तरफ आ जाए और खाना खा ले तो आपकी यात्रा सफल होगी. अगर कौआ खाना खाने के बाद अपना सिर खुजलाए तो आपका अटका काम पूरा हो जाएगा और कामयाबी मिलेगी. इन संकेतों से पता चलता है कि आपके पूर्वज आपसे खुश हैं.