CHANAKYA NITI : जिनके पास होते हैं ये 4 गुण, मां लक्ष्मी हमेशा बरसातीं हैं धन-वैभव.

हर इंसान के जीवन में धन का महत्व है. इसके बिना जीवन सूना-सूना लगता है. आचार्य चाणक्य ने भी धन और इसके सदूपयोग को बताया है. कोई भी व्यक्ति धन के बिना सुख-सुविधा और विकास के बारे में सोच भी नहीं सकता. ऐसा इसलिए कि कलियुग में धन के बिना सबकुछ अधूरा है. परंतु धन इंसान को आसानी से नहीं मिलता है. इसे पाने के लिए जीवन में भरपूर मेहनत करना पड़ता है. वहीं चाणक्य के मुताबिक किसी भी इंसान के जीवन में लक्ष्मी की कृपा तभी मिलती है जब उसके ये गुण हों.

कड़वी वाणी से रुठ जाती हैं लक्ष्मी
चाणक्य के अनुसार हर इंसान को अपनी वाणी में मधुरता रखनी चाहिए. जिसकी वाणी में मिठास नहीं रहती उसे दूसरों का अपमान सहना पड़ता है. कड़वी बात बोलने वालों के पास लक्ष्मी कभी नहीं आती हैं. इसके अलावा बिजनेस के मामले में वही इंसान सफल हो पाता है जिसकी बातों में मिठास होती है. वाणी खराब होने पर धन की देवी हमेशा के लिए दूर चली जाती हैं.

सहयोगी कर्मियों का सम्मान करें
आचार्य चाणक्य के मुताबिक देवी लक्ष्मी वैसे इंसान पर प्रसन्न रहती हैं जो कार्य स्थल पर अपने साथ काम करने वालों का आदर-सम्मान करते हैं. साथ ही उनके अधिकारों की रक्षा करने के लिए हर वक्त साथ रहते हैं. सहकर्मियों के प्रति ऐसा भाव रखने वालों पर लक्ष्मी खुश रहती है.

दान-पुण्य करने वालों पर
आचार्य चाणक्य ने दान-पुण्य को खास महत्व दिया है. चाणक्य कहते हैं धनवान इंसान को जीवन में दान करते रहना चाहिए. दान करने से अशुभ ग्रहों का दोष दूर होता है. जिससे जीवन में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता रहता है.

यह भी पढ़े :  Vastu Tips: घर में भूलकर भी ना लगाएं ये 5 तस्वीर, वरना पैसों की तंगी से जीवन हो जाएगा बर्बाद.

ऐसे घरों में रहती हैं मां लक्ष्मी
चाणक्य नीति के अनुसार धन की देवी लक्ष्मी का वास उस घर में होता है. जिस घर में लड़ाई-झगड़ा नहीं होता है. जिस घर के सभी सदस्य आपस में प्रेम भाव रखते हैं, वहां लक्ष्मी जी टिक कर रहती हैं. इसके अलावा जिस घर में पति-पत्नी का आपस में मधुर प्यार बना रहता है, कभी झगड़ा नहीं होता, वहां लक्ष्मी जी खुश होकर रहती हैं.