Bhanu Saptami 2021 : कल हैं भानु सप्तमी जानें पूजा मुहूर्त, व्रत विधि एवं महत्व.

Bhanu Saptami 2021: 26 दिसंबर 2021 दिन रविवार को पौष मास (Paush Month) के कृष्ण पक्ष की सप्तमी तिथि है. इस दिन भानु सप्तमी है. जब भी किसी माह की सप्तमी तिथि को रविवार होता है, उस दिन भानु सप्तमी होती है. ऐसा योग पौष मास की सप्तमी को बना है. भानु सप्तमी के दिन सूर्य देव की पूजा करने का विधान है. सूर्य देव की कृपा से व्यक्ति सेहतमंद और सुखी रहता है. इस दिन लोग भानु सप्तमी का व्रत भी रखते हैं. इसमें नमक को सेवन वर्जित होता है. आइए जानते हैं भानु सप्तमी व्रत की तिथि, पूजा मुहूर्त एवं व्रत के बारे में.

भानु सप्तमी 2021 तिथि एवं पूजा मुहूर्त
हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, पौष मास के कृष्ण पक्ष की सप्तमी तिथि का प्रारंभ आज रात 08:09 बजे से हो रहा है, इस तिथि का समापन 26 दिसंबर दिन रविवार को रात 08:08 बजे होगा. उदयातिथि अनुसार भानु सप्तमी का व्रत 26 दिसंबर को रखा जाएगा.

आयुष्मान और सौभाग्य योग
26 दिसंबर को प्रात:काल से ही उत्तम योग है. इस दिन आयुष्मान योग सुबह 10:24 बजे तक है, उसके बाद सौभाग्य योग प्रारंभ हो जाएगा. ऐसे में आप प्रात:काल सूर्योदय से ही सूर्य देव की पूजा कर सकते हैं. भानु सप्तमी में सूर्य देव की पूजा होती है, इसलिए प्रात: स्नान के बाद सूर्य देव की पूजा कर लें.

भानु सप्तमी व्रत विधि :-

1. सुबह स्नान के बाद साफ कपड़े पहनें और सूर्य देव को लाल पुष्प, चंदन, अक्षत् मिश्रित जल अर्पित करें.

2. इसके बाद आदित्य हृदय स्तोत्र या सूर्य चालीसा का पाठ करें. फिर सूर्य देव के मंत्र का जाप करें. उसके बाद सूर्य देव को प्रणाम करके मंगलमय एवं सुखी जीवन का आशीष मांगें.

यह भी पढ़े :  Shattila Ekadashi 2022: षटतिला एकादशी व्रत तिथि पूजा मुहूर्त पारण एवं महत्व.

3. दिनभर फलाहार करते हुए रहना है. नमक का सेवन नहीं करना है. कुछ लोग सूर्योदय के बाद ही पारण कर लेते हैं और कुछ लोग अगले दिन सूर्योदय के बाद पारण करते हैं.