Aaj Ka Panchang : 25 मई 2022 : आज करें गणपति और यम की पूजा, जानें शुभ-अशुभ समय एवं राहुकाल.

आज का पंचांग (Aaj Ka Panchang): आज 25 मई दिन बुधवार है. आज ज्येष्ठ माह के कृष्ण पक्ष की दशमी तिथि है. दशमी तिथि के देवता यमराज हैं, जिनको यम या मृत्यु का देवता कहते हैं. दशमी तिथि को यमराज की पूजा करने से मृत्यु का भय नहीं र​हता है. यमराज शनि देव के भाई हैं, उनके पिता सूर्य देव और माता संज्ञा हैं. बुधवार का दिन गणेश जी की पूजा के लिए समर्पित है. इस दिन के अधिपति देव विघ्नहर्ता गणपति हैं. उनकी पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं और संकट दूर होते हैं. गजानन की कृपा से बिगड़े काम भी बन जाते हैं और उसमें सफलता प्राप्त होती है. गणेश जी के आशीर्वाद से सुख, सौभाग्य, धन, समृद्धि, बल, बुद्धि, विवेक सबमें वृद्धि होती है. बुधवार को गणेश जी को मोदक और दूर्वा जरूर चढ़ाना चाहिए. ये दोनों ही वस्तुएं गणपति बप्पा को बहुत ही प्रिय हैं.

जो लोग बुधवार का व्रत रखते हैं, उनको गणेश जी की कृपा तो प्राप्त होती है, साथ ही बुध दोष भी दूर हो जाता है. बुधवार व्रत रखने से कुंडली में बुध ग्रह की स्थिति मजबूत होती है. बुध के प्रबल होने से बिजनेस में तरक्की मिलती है, निर्णय क्षमता और विवेक अच्छा होता है. इसकी वजह से आप सही फैसले करके उन्नति प्राप्त कर सकते हैं. बुध के खराब होने से बुद्धि भ्रष्ट हो जाती है. आज आप किसी गरीब ब्राह्मण को कांसे का बर्तन, हरा वस्त्र, हरी सब्जियां, हरे पेड़-पौधे आदि का दान कर सकते हैं. इस दिन गाय को हरा चारा खिलाना भी ब​हुत ही फायदेमंद होता है. आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी होगी आज ग्रहों की चाल.

यह भी पढ़े :  Somvati Amavasya 2021: सोमवती अमावस्या पर करें ये 10 उपाय, मिलेगी संकटों से निजात

25 मई 2022 का पंचांग

आज की तिथि – ज्येष्ठ कृष्णपक्ष दशमी

आज का करण – विष्टि

आज का नक्षत्र – उत्तराभाद्रपदा

आज का योग – प्रीति

आज का पक्ष – कृष्ण

आज का वार – बुधवार

सूर्योदय-सूर्यास्त और चंद्रोदय-चंद्रास्त का समय

सूर्योदय – 05:55:00 AM

सूर्यास्त – 07:17:00 PM

चन्द्रोदय – 26:55:00

चन्द्रास्त – 14:33:59

चन्द्र राशि– मीन

हिन्दू मास एवं वर्ष

शक सम्वत – 1944 शुभकृत

विक्रम सम्वत – 2079

काली सम्वत – 5123

दिन काल – 13:44:39

मास अमांत – वैशाख

मास पूर्णिमांत – ज्येष्ठ

शुभ समय – कोई नहीं

अशुभ समय (अशुभ मुहूर्त)

दुष्टमुहूर्त– 11:50:35 से 12:45:34 तक

कुलिक– 11:50:35 से 12:45:34 तक

कंटक– 17:20:27 से 18:15:26 तक

राहु काल– 12:36 से 14:16 तक

कालवेला/अर्द्धयाम– 06:20:43 से 07:15:42 तक

यमघण्ट– 08:10:41 से 09:05:39 तक

यमगण्ड– 07:08:49 से 08:51:54 तक

गुलिक काल– 14:16 से 15:57 तक