Aaj Ka Panchang : 20 अप्रैल 2022 : आज करें गणेश पूजन, जानें शुभ-अशुभ समय एवं राहुकाल.

आज का पंचांग : आज 20 अप्रैल दिन बुधवार है. आज वैशाख माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि है. आज बुधवार के दिन आपको गणेश जी की पूजा करनी चाहिए. उनकी पूजा से सौभाग्य एवं शुभता में वृद्धि होती है. गणेश जी विघ्नहर्ता है, वे अपने भक्तों के जीवन के विघ्न, बाधा और संकटों को दूर कर देते हैं. वे ज्ञान, बुद्धि, धन, सुख एवं समृद्धि भी प्रदान करते हैं. उनको प्रसन्न करने के लिए आज के दिन पूजा के समय लाल पुष्प, दूर्वा, मोदक, अक्षत्, धूप, दीप, गंध, पान, सुपारी आदि चढ़ाना चाहिए. इस दौरान ओम गं गणपतये नम: मंत्र का उच्चारण करते रहें. यह सभी मनोकामनाओं की पूर्ति करने वाला मंत्र है. इसके जाप से गणेश जी खुश होकर भक्त की इच्छा पूर्ति करते हैं. पूजा के समय आप गणेश चालीसा, गणेश स्तोत्र आदि का पाठ कर सकते हैं. यदि आप बुधवार व्रत है, तो व्रत कथा का पाठ करें.

बुधवार का व्रत करने से बुध ग्रह से जुड़े हुए दोष भी दूर होते हैं. बुध ग्रह के दोषों को दूर करने के लिए आप बीज मंत्र ब्रां ब्रीं ब्रौं सः बुधाय नमः का जाप करना चाहिए. गाय को हरा चारा खिलाने, किसी ब्राह्मण को हरा वस्त्र, हरा मूंग, कांसे के बर्तन, हरी सब्जियां आदि दान करने से भी बुध दोष दूर होता है. बुध ग्रह के मजबूत होने से बिजनेस में उन्नति होती है. करियर में सफलता और तरक्की मिलती है. आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी होगी आज ग्रहों की चाल.

यह भी पढ़े :  Utpanna Ekadashi : इस व्रत को करने के हैं ढेरों फायदे, मरने के बाद मिलता है सीधे मोक्ष; जानें पूजा की विधि.

20 अप्रैल 2022 का पंचांग

आज की तिथि – वैशाख कृष्णपक्ष चतुर्थी

आज का करण – बलव

आज का नक्षत्र – ज्येष्ठा

आज का योग – वरियान

आज का पक्ष – कृष्ण

आज का वार – बुधवार

सूर्योदय-सूर्यास्त और चंद्रोदय-चंद्रास्त का समय

सूर्योदय – 06:15:00 AM

सूर्यास्त – 07:02:00 PM

चन्द्रोदय – 23:00:00

चन्द्रास्त – 08:22:59

चन्द्र राशि– वृश्चिक

हिन्दू मास एवं वर्ष

शक सम्वत – 1944 शुभकृत

विक्रम सम्वत – 2079

काली सम्वत – 5123

दिन काल – 12:58:25

मास अमांत – चैत्र

मास पूर्णिमांत – वैशाख

शुभ समय – कोई नहीं

अशुभ समय (अशुभ मुहूर्त)

दुष्टमुहूर्त– 11:54:24 से 12:46:18 तक

कुलिक– 11:54:24 से 12:46:18 तक

कंटक– 17:05:46 से 17:57:40 तक

राहु काल– 12:38 से 14:14

कालवेला/अर्द्धयाम– 06:43:02 से 07:34:56 तक

यमघण्ट– 08:26:50 से 09:18:43 तक

यमगण्ड– 07:28:27 से 09:05:45 तक

गुलिक काल– 14:14 से 15:50