Aaj Ka Panchang : 18 अप्रैल 2022 : आज करें शिव आराधना, जानें शुभ-अशुभ समय एवं राहुकाल.

आज का पंचांग : आज 18 अप्रैल दिन सोमवार है. आज वैशाख माह के कृष्ण पक्ष की द्वितीया तिथि है. सोमवार के दिन देवों के देव महादेव की पूजा अर्चना करनी चाहिए. भगवान शिव की पूजा गंगाजल, गाय के दूध, शहद, बेलपत्र, भांग, धतूरा, भस्म, चंदन, अक्षत्, धूप, दीप, गंध आदि से करते हैं. इस दिन शिवलिंग का जलाभिषेक करना चाहिए, इससे भगवान भोलेनाथ अत्यंत प्रसन्न होते हैं. इस दिन आप ओम नम: शिवाय मंत्र का जाप करके भगवान शिव शंकर का अशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं. आज शिव चालीसा, शिव पुराण आदि का पाठ करना शुभ एवं कल्याणकारी माना जाता है. पूजा के अंत में घी के दीपक से शिव जी की आरती विधि विधान से करनी चाहिए. उनकी कृपा से रोग, दोष, कष्ट, दुख सब दूर होता है और मनोकामनाओं की पूर्ति होती है.

सोमवार का व्रत रखने से भगवान भोलेनाथ प्रसन्न होते हैं. जिन लोगों के विवाह में कोई देरी या समस्या होती है, वे लोग सोमवार व्रत रखते हैं. हालांकि 16 सोमवार का व्रत सावन के सोमवार से शुरु करें तो ज्यादा अच्छा रहता है क्योंकि सावन माह भगवान शिव को अतिप्रिय है. सोमवार व्रत कथा का पाठ करने से व्रत का पूर्ण फल प्राप्त होता है और उसका महत्व भी पता चलता है. यदि आपकी कुंडली में चंद्र दोष है, तो आज आप चंद्र देव की पूजा करें या शिव जी की पूजा से भी चंद्रमा का दोष दूर हो जाएगा. आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी होगी आज ग्रहों की चाल.

यह भी पढ़े :  GEMSTONE : इस रत्न को पहनने से खत्म होगा पति-पत्नी के बीच का झगड़ा, शादीशुदा लाइफ रहेगी हर वक्त खुशहाल.

18 अप्रैल 2022 का पंचांग

आज की तिथि – वैशाख कृष्णपक्ष द्वितीया

आज का करण – तैतिल

आज का नक्षत्र – स्वाति

आज का योग – सिद्धि

आज का पक्ष – कृष्ण

आज का वार – सोमवार

सूर्योदय-सूर्यास्त और चंद्रोदय-चंद्रास्त का समय

सूर्योदय – 06:17:00 AM

सूर्यास्त – 07:01:00 PM

चन्द्रोदय – 20:41:00

चन्द्रास्त – 06:50:59

चन्द्र राशि– तुला

हिन्दू मास एवं वर्ष

शक सम्वत – 1944 शुभकृत

विक्रम सम्वत – 2079

काली सम्वत – 5123

दिन काल – 12:55:11

मास अमांत – चैत्र

मास पूर्णिमांत – वैशाख

शुभ समय – 11:54:57 से 12:46:38 तक

अशुभ समय (अशुभ मुहूर्त)

दुष्टमुहूर्त– 12:46:38 से 13:38:19 तक, 15:21:40 से 16:13:21 तक

कुलिक– 15:21:40 से 16:13:21 तक

कंटक– 08:28:14 से 09:19:55 तक

राहु काल– 07:52 से 09:28

कालवेला/अर्द्धयाम– 10:11:35 से 11:03:16 तक

यमघण्ट– 11:54:57 से 12:46:38 तक

यमगण्ड– 10:43:54 से 12:20:48 तक

गुलिक काल– 14:14 से 15:50