Aaj Ka Panchang : 17 अप्रैल 2022 : आज से वैशाख माह प्रारंभ, जानें शुभ-अशुभ समय एवं राहुकाल.

आज का पंचांग: आज 17 अप्रैल दिन रविवार है. आज वैशाख माह के कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा तिथि है. आज से हिंदू कैलेंडर का दूसरा मह वैशाख शुरु हुआ है. इस माह में भगवान विष्णु की पूजा करने और गंगा की स्तुति करने का महत्व है. इस माह में बेल का सेवन करना चाहिए क्योंकि बढ़ती गर्मी में बेल पेट के लिए ठंडा होता है. तले हुए खाद्य पदार्थों का सेवन करना वर्जित होता है. आज रविवार को प्रात: स्नान करने के बाद सूर्य देव की पूजा करें. सूर्य देव को पानी में लाल फूल, शक्कर, अक्षत्, लाल चंदन मिलाकर अर्पित करें. इससे सूर्य देव प्रसन्न होते हैं, उनकी कृपा से जीवन खुशहाल रहता है. धन, धान्य की कमी नहीं रहती है, रोग से मुक्ति मिलती है, स्वास्थ्य अच्छा रहता है. सूर्य देव को प्रसन्न करने के लिए आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करें.

सूर्य देव ग्रहों के राजा कहे जाते हैं. यदि वे आपसे प्रसन्न रहते हैं, तो आपको करियर में अच्छी तरक्की मिल सकती है. जिनकी कुंडली में सूर्य की स्थिति मजबूत होती है, वे लोग यश, पद, प्रतिष्ठा प्राप्त करते हैं. राजनीति के क्षेत्र में उनका रुतबा बढ़ता है, बड़े पद भी प्राप्त होते हैं. यदि आप सूर्य को मजबूत करना चाहते हैं, तो रविवार के दिन लाल वस्त्र, गेहूं, मसूर दाल, घी, तांबा, लाल फूल आदि का दान करें. रविवार का व्रत रखना भी लाभदायक रहेगा. आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी होगी आज ग्रहों की चाल.

17 अप्रैल 2022 का पंचांग

यह भी पढ़े :  Turquoise Gemstone : इस रत्न को धारण करने से करियर और प्रेम विवाह में मिलती हैं सफलता.

आज की तिथि – वैशाख कृष्णपक्ष प्रतिपदा

आज का करण – बलव

आज का नक्षत्र – चित्रा

आज का योग – वज्र

आज का पक्ष – कृष्ण

आज का वार – रविवार

सूर्योदय-सूर्यास्त और चंद्रोदय-चंद्रास्त का समय

सूर्योदय – 06:17:00 AM

सूर्यास्त – 07:00:00 PM

चन्द्रोदय – 19:33:00

चन्द्रास्त – 06:13:00

चन्द्र राशि– तुला

हिन्दू मास एवं वर्ष

शक सम्वत – 1944 शुभकृत

विक्रम सम्वत – 2079

काली सम्वत – 5123

दिन काल – 12:53:36

मास अमांत – चैत्र

मास पूर्णिमांत – वैशाख

शुभ समय – 11:55:14 से 12:46:49 तक

अशुभ समय (अशुभ मुहूर्त)

दुष्टमुहूर्त– 17:04:41 से 17:56:15 तक

कुलिक– 17:04:41 से 17:56:15 तक

कंटक– 10:12:06 से 11:03:40 तक

राहु काल– 17:25 से 19:00

कालवेला/अर्द्धयाम– 11:55:14 से 12:46:49 तक

यमघण्ट– 13:38:23 से 14:29:58 तक

यमगण्ड– 12:21:01 से 13:57:43 तक

गुलिक काल– 15:50 से 17:25