Aaj Ka Panchang : 15 अप्रैल 2022 : आज करें माता लक्ष्मी की पूजा, जानें शुभ-अशुभ समय एवं राहुकाल.

आज का पंचांग : आज 15 अप्रैल दिन शुक्रवार है. आज चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि है. आज शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी की पूजा करने का विधान है. माता लक्ष्मी को लाल गुलाब, कमल का फूल, कमल गट्टा, बताशा, खीर, कुम​कुम, अक्षत्, धूप, दीप, गंध, सफेद मिठाई आदि चढ़ाना चाहिए. य​दि आप माता लक्ष्मी के साथ गणेश जी की भी पूजा करते हैं, तो आपके धन, धान्य, सुख, सौभाग्य आदि में वृद्धि के साथ साथ शुभता में भी बढ़ोत्तरी होगी. माता लक्ष्मी की असीम कृपा प्राप्त करने के लिए लक्ष्मी स्तोत्र या कनक धारा स्तोत्र का पाठ कर सकते हैं. कनक धारा स्तोत्र का पाठ करने से धन की कमी दूर होती है, दरिद्रता खत्म होती है और आ​र्थिक उन्नति की राह खुलती है. पूजा के अंत में घी के दीपक से माता लक्ष्मी की आरती करें, विशेष मनोकामना की पूर्ति के लिए तिल के तेल से आरती करें.

माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए लोग शुक्रवार का व्रत रखते हैं. इससे शुक्र ग्रह भी मजबूत होता है. यह सुख, समृद्धि, ऐश्वर्य एवं विलासितापूर्ण जीवन की प्रतीक माना जाता है. शुक्र को मजबूत करने के लिए आप शुक्रवार को सफेद वस्त्र पहनें और इत्र का उपयोग करें. इस दिन सफेद वस्त्र, इत्र, खीर, चावल, मोती आदि का दान करने से भी सुख एवं सौभाग्य बढ़ता है. शुक्रवार को मां दुर्गा एवं शीतला माता की भी पूजा की जाती है. आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी होगी आज ग्रहों की चाल.

यह भी पढ़े :  RASHIFAL TODAY : 15 दिसंबर 2021 का राशिफल: जानिए अपना शुभ रंग, इन राशियों के लिए बुधवार रहेगा खास, अपनाने होंगे ये नुस्खे.

15 अप्रैल 2022 का पंचांग

आज की तिथि – चैत्र शुक्ल चतुर्दशी

आज का करण – गर

आज का नक्षत्र – उत्तराफाल्गुनी

आज का योग – ध्रुव

आज का पक्ष – शुक्ल

आज का वार – शुक्रवार

सूर्योदय-सूर्यास्त और चंद्रोदय-चंद्रास्त का समय

सूर्योदय – 06:19:00 AM

सूर्यास्त – 07:00:00 PM

चन्द्रोदय – 17:25:00

चन्द्रास्त – 29:38:59

चन्द्र राशि– कन्या

हिन्दू मास एवं वर्ष

शक सम्वत – 1944 शुभकृत

विक्रम सम्वत – 2079

काली सम्वत – 5123

दिन काल – 12:50:20

मास अमांत – चैत्र

मास पूर्णिमांत – चैत्र

शुभ समय – 11:55:49 से 12:47:11 तक

अशुभ समय (अशुभ मुहूर्त)

दुष्टमुहूर्त– 08:30:24 से 09:21:45 तक, 12:47:11 से 13:38:32 तक

कुलिक– 08:30:24 से 09:21:45 तक

कंटक– 13:38:32 से 14:29:54 तक

राहु काल– 11:04 से 12:39

कालवेला/अर्द्धयाम– 15:21:15 से 16:12:36 तक

यमघण्ट– 17:03:58 से 17:55:19 तक

यमगण्ड– 15:34:05 से 17:10:23 तक

गुलिक काल– 07:54 से 09:29