Aaj Ka Panchang : 31 मार्च 2022 : आज करें भगवान विष्णु की पूजा, जानें शुभ-अशुभ समय एवं राहुकाल.

आज का पंचांग (Aaj Ka Panchang): आज 31 मार्च दिन गुरुवार है. आज चैत्र माह (Chaitra Month) के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि है. दोपहर 12:24 से चैत्र माह की अमावस्या तिथि लग रही है, लेकिन चैत्र अमावस्या का स्नान एवं दान 01 अप्रैल को प्रात: होगा. 01 अप्रैल को अमावस्या की उदया तिथि प्राप्त हो रही है. जो लोग चतुर्दशी तिथि पर मासिक शिवरात्रि का व्रत थे, वे आज पारण करके व्रत को पूरा कर सकते हैं. आज गुरुवार को भगवान विष्णु की विधि विधान से पूजा करते हैं. भगवान विष्णु को पंचामृत से अभिषेक करते हैं. फिर अक्षत्, पीले फूल, फल, चंदन, तुलसी का पत्ता, धूप, दीप, गंध, हल्दी, गुड़, चने की दाल, बेसन के लड्डू आदि ​अर्पित करते हुए पूजा करते हैं. इसके पश्चार विष्णु सहस्रनाम, विष्णु चालीसा, गुरुवार व्रत कथा का पाठ करते हैं और अंत में भगवान विष्णु की आरती करते हैं. भगवान विष्णु की पूजा करने से दांपत्य जीवन सुखमय होता है, वैवाहिक जीवन की समस्याएं दूर हो जाती हैं. वे भक्तों की मनोकामनाएं पूरी करते हैं. जीवन में सुख एवं समृद्धि आती है.

जिन लोगों के विवाह में किसी प्रकार से देरी होती है, उनको गरुवार व्रत एवं देव गुरु बृहस्पति की पूजा करनी चाहिए. ऐसा करने से देव गुरु बृहस्पति मजबूत होते हैं और शुभ कार्यों के लिए मांगलिक योग बनती है. विवाह में देरी की समस्या दूर होती है. केले के पौधे में भगवान विष्णु का वास होता है. केले की पूजा करने से साक्षात् भगवान विष्णु का आशीर्वाद मिलता है. जो लोग गुरुवार का व्रत रखते हैं, वे केला नहीं खाते हैं और न ही कपड़े धोते हैं या बाल, नाखुन आदि काटते हैं. पूरा परिवार इस नियम को मानता है. आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी रहेगी आज ग्रहों की चाल.

यह भी पढ़े :  Pitru Paksha 2021: पितृ पक्ष में क्‍यों किया जाता है तर्पण, जानिए कारण और सही तरीका

31 मार्च 2022 का पंचांग

आज की तिथि – चैत्र कृष्णपक्ष चतुर्दशी

आज का करण – शकुनी

आज का नक्षत्र – पूर्वभाद्रपदा

आज का योग – शुक्ल

आज का पक्ष – कृष्ण

आज का वार – गुरुवार

सूर्योदय-सूर्यास्त और चंद्रोदय-चंद्रास्त का समय

सूर्योदय – 06:33:00 AM

सूर्यास्त – 06:54:00 PM

चन्द्रोदय – चन्द्रोदय नहीं

चन्द्रास्त – 17:49:59

चन्द्र राशि– मीन

हिन्दू मास एवं वर्ष

शक सम्वत – 1943 प्लव

विक्रम सम्वत – 2079

काली सम्वत – 5122

दिन काल – 12:25:13

मास अमांत – फाल्गुन

मास पूर्णिमांत – चैत्र

शुभ समय – कोई नहीं

अशुभ समय (अशुभ मुहूर्त)

दुष्टमुहूर्त – 10:21:29 से 11:11:10 तक, 15:19:34 से 16:09:15 तक

कुलिक – 10:21:29 से 11:11:10 तक

कंटक – 15:19:34 से 16:09:15 तक

राहु काल – 14:16 से 15:49

कालवेला/अर्द्धयाम – 16:58:56 से 17:48:37 तक

यमघण्ट – 07:02:45 से 07:52:26 तक

यमगण्ड – 06:13:05 से 07:46:14 तक

गुलिक काल – 09:38 से 11:11