Aaj Ka Panchang : 01 अगस्त 2022 : सावन का तीसरा सोमवार व्रत, जानें शुभ-अशुभ समय और राहुकाल.

आज का पंचांग (Aaj Ka Panchang): आज 01 अगस्त दिन सोमवार है. आज सावन माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि है. आज सावन माह का तीसरा सोमवार व्रत है और चतुर्थी तिथि होने के कारण आज सावन की विनायक चतुर्थी व्रत भी है. आज के दिन भगवान शिव और गणपति बप्पा दोनों की पूजा करके उनका आशीष प्राप्त करने का उत्तम अवसर है. सावन का सोमवार व्रत संतान की प्राप्ति और मनचाहे वर की कामना से किया जाता है, जबकि विनायक चतुर्थी व्रत संकटों को दूर करके जीवन में सुख, सौभाग्य, समृद्धि पाने की कामना से किया जाता है. विनायक चतुर्थी व्रत के दिन गणेश पूजन दोपहर तक संपन्न कर लेते हैं क्योंकि इस व्रत में चंद्रमा का दर्शन करना वर्जित है. यदि चंद्रमा का दर्शन करते हैं, तो आप पर मिथ्या कलंक लगता है. इस दिन पूजा के समय विनायक चतुर्थी व्रत कथा अवश्य सुनते हैं.

सावन सोमवार के दिन भगवान शिव का गंगाजल से अभिषेक कराते हैं, उसके पश्चात उनका बेलपत्र, भांग, धतूरा, सफेद फूल आदि से विधिपूर्वक पूजन करते हैं. इस दिन आप जिस मनोकामना से व्रत रखते हैं, उससे संबंधित व्रत कथा का पाठ करते हैं. सावन सोमवार व्रत की दो कथा है, इस कथा माता पार्वती की है और दूसरी कथा पुत्र प्राप्ति से जुड़ी हुई है. आज सोमवार को शिव पूजा करने से चंद्र दोष दूर होता है. इस दिन आप चंद्रमा से जुड़ी वस्तुओं का दान करके पुण्य लाभ प्राप्त कर सकते हैं. दान करने से ग्रह दोष दूर होता है. आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी होगी आज ग्रहों की

यह भी पढ़े :  RASHIFAL TODAY 23 September 2021 राशिफल : मेष, वृषभ, मिथुन, कर्क, तुला, वृश्चिक राशि वालों को आर्थिक लाभ की संभावना

01 अगस्त 2022 का पंचांग

आज की तिथि – श्रावण शुक्ल चतुर्थी

आज का करण – वणिज

आज का नक्षत्र – पूर्वाफाल्गुनी

आज का योग – परिध

आज का पक्ष – शुक्ल

आज का वार – सोमवार

सूर्योदय-सूर्यास्त और चंद्रोदय-चंद्रास्त का समय

सूर्योदय – 06:09:00 AM

सूर्यास्त – 07:21:00 PM

चन्द्रोदय – 08:41:00

चन्द्रास्त – 21:37:00

चन्द्र राशि– सिंह

हिन्दू मास एवं वर्ष

शक सम्वत – 1944 शुभकृत

विक्रम सम्वत – 2079

काली सम्वत – 5123

दिन काल – 13:30:16

मास अमांत – श्रावण

मास पूर्णिमांत – श्रावण

शुभ समय – 12:00:13 से 12:54:15 तक

अशुभ समय (अशुभ मुहूर्त)

दुष्टमुहूर्त– 12:54:15 से 13:48:16 तक, 15:36:18 से 16:30:19 तक

कुलिक– 15:36:18 से 16:30:19 तक

कंटक– 08:24:09 से 09:18:10 तक

राहु काल– 07:48 से 09:27 तक

कालवेला/अर्द्धयाम– 10:12:11 से 11:06:12 तक

यमघण्ट– 12:00:13 से 12:54:15 तक

यमगण्ड– 10:45:57 से 12:27:14 तक

गुलिक काल– 14:24 से 16:03 तक