Aaj Ka Panchang : 30 जुलाई 2022 : आज करें शनि देव की पूजा, जानें शुभ-अशुभ समय और राहुकाल.

आज का पंचांग (Aaj Ka Panchang): आज 30 जुलाई दिन शनिवार है. आज सावन माह के शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि है. आज शनिवार को शनि देव (Shani Dev) की पूजा करनी चाहिए. इससे शनि देव प्रसन्न होते हैं और उनकी महादशा में पीड़ा से राहत मिलती है. शनि की साढ़ेसाती, ढैय्या और शनि दोष से मुक्ति के लिए शनि आराधना आवश्यक है. जिन पर शनि की महादशा चल रही है, उन लोगों को तो अवश्य ही शनि देव की पूजा हर शनिवार को करनी चाहिए. शनि देव को नीले फूल, नीले या काले वस्त्र, शमी के पत्ते, काला तिल, सरसों का तेल आदि पूजा के समय अर्पित करना चाहिए. ऐसा करने से शनि देव प्रसन्न होंगे और वे अपनी पीड़ा से राहत प्रदान करेंगे. यदि आप शनि देव की कृपा प्राप्त करना चाहते हैं तो आज के दिन शनि कवच या शनि स्तोत्र का पाठ करें. इसमें शनि देव की महिमा का वर्णन है. ये सब संस्कृत में लिखा हुआ है, यदि आप संस्कृत नहीं पढ़ सकते हैं तो शनि चालीसा का ही पाठ करें, इससे भी आपको लाभ होगा.

इन सबके अतिरिक्त आप शनिवार का व्रत रख सकते हैं, तो यह भी अच्छा उपाय है. इस दिन पूजा के समय शनिवार व्रत कथा सुनें. शनि देव की आरती तिल के तेल या सरसों के तेल से करें. आज के दिन पूजा के समापन पर गरीबों की सेवा करें, उनको दान करें. दान में आप चमड़े के जूते, चप्पल, लोहा, शनि चालीसा, स्टील के बर्तन, काले कपड़े, नीले वस्त्र आदि दे सकते हैं. दान में काला तिल, काली उड़द की दाल भी दे सकते हैं. इस दिन आपको असहाय, अपंग लोगों की मदद करनी चाहिए. भूखे लोगों को भोजन कराना चाहिए. इससे भी आपको शनि कृपा प्राप्त होगी. आज शनि ग्रह के बीज मंत्र का जाप करने से भी ग्रह दोष दूर होगा. आइए पंचांग से जानें आजे का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी होगी आज ग्रहों
की चाल.

यह भी पढ़े :  Aaj Ka Panchang : 18 जुलाई 2022 : सावन सोमवार व्रत आज, जानें शुभ-अशुभ समय और राहुकाल.

30 जुलाई 2022 का पंचांग

आज की तिथि – श्रावण शुक्ल द्वितीया

आज का करण – बलव

आज का नक्षत्र – अश्लेषा

आज का योग – व्यतिपात

आज का पक्ष – शुक्ल

आज का वार – शनिवार

सूर्योदय-सूर्यास्त और चंद्रोदय-चंद्रास्त का समय

सूर्योदय – 06:09:00 AM

सूर्यास्त – 07:22:00 PM

चन्द्रोदय – 06:48:59

चन्द्रास्त – 20:34:59

चन्द्र राशि– कर्क

हिन्दू मास एवं वर्ष

शक सम्वत – 1944 शुभकृत

विक्रम सम्वत – 2079

काली सम्वत – 5123

दिन काल – 13:32:44

मास अमांत – श्रावण

मास पूर्णिमांत – श्रावण

शुभ समय – 12:00:14 से 12:54:25 तक

अशुभ समय (अशुभ मुहूर्त)

दुष्टमुहूर्त– 05:40:58 से 06:35:09 तक, 06:35:09 से 07:29:20 तक

कुलिक– 06:35:09 से 07:29:20 तक

कंटक– 12:00:14 से 12:54:25 तक

राहु काल– 09:27 to 11:06 तक

कालवेला/अर्द्धयाम– 13:48:36 से 14:42:47 तक

यमघण्ट– 15:36:58 से 16:31:10 तक

यमगण्ड– 14:08:56 से 15:50:31 तक

गुलिक काल– 06:09 to 07:48 तक