AAJ KA PANCHANG : 23 मार्च 2022: आज करें गणपति की आराधना जानें शुभ-अशुभ समय एवं राहुकाल.

आज का पंचांग (Aaj Ka Panchang): आज 23 मार्च दिन बुधवार है. आज चैत्र माह (Chaitra Month) के कृष्ण पक्ष की षष्ठी तिथि है. आज बुधवार को प्रथम पूज्य श्री गणेश जी की आराधना करनी चाहिए. जो बुधवार का व्रत रखते हैं, वे गणेश जी की विधि विधान से पूजा (Ganesh Puja) करते हैं और बुधवार व्रत कथा (Budhwar Vrat Katha) का श्रवण या पाठ करते हैं. गणेश जी उनकी मनोकामनाएं पूरी करते हैं, संकटों को दूर करते हैं, जीवन में शुभता बढ़ती है, सुख, सौभाग्य में वृद्धि होती है. बुधवार की पूजा में गणेश जी के मस्तक पर दूर्वा चढ़ाना चाहिए. लाल फूल से पूजा करने और मोदक का भोग लगाने से गणेश जी अत्यंत प्रसन्न होते हैं. इस दौरान गणेश मंत्रों का जाप करना, गणेश चालीसा का पाठ करना और गणेश जी आरती करना कल्याणकारी माना जाता है. गणेश जी की पूजा में तुलसी के पत्ते का प्रयोग नहीं करना चाहिए.

बुधवार को प्रात: गणेश पूजन से पूर्व सूर्य देव को जल अर्पित करें और गायत्री मंत्र का जप करें. आज के दिन गाय को हरा चारा खिलाना शुभ होता है. गाय की सेवा करने मात्र से पुण्य की प्राप्ति होती है क्योंकि गाय में देवी देवताओं का वास माना जाता है. आज बुधवार को हरी मूंग, हरा कपड़ा, हरी सब्जियां, हरे रंग की अन्य वस्तुओं का दान करने से बुध दोष दूर होता है. बुध ग्रह के मजबूत होने से बिजनेस, कार्यक्षेत्र में तरक्की मिलती है. बुध ग्र​ह को मजबूत करने के लिए बुध ग्रह के मंत्र का जाप भी कर सकते हैं. आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी रहेगी आज ग्रहों की चाल.

यह भी पढ़े :  Vastu Tips: आखिर क्यों नहीं दक्षिण दिशा में खिड़की लगानी चाहिए क्या होती है परेशानी.

23 मार्च 2022 का पंचांग

आज की तिथि – चैत्र कृष्णपक्ष षष्ठी

आज का करण – गर

आज का नक्षत्र – अनुराधा

आज का योग – वज्र

आज का पक्ष – कृष्ण

आज का वार – बुधवार

सूर्योदय-सूर्यास्त और चंद्रोदय-चंद्रास्त का समय

सूर्योदय – 06:41:00 AM

सूर्यास्त – 06:51:00 PM

चन्द्रोदय – 24:02:00

चन्द्रास्त – 09:39:00

चन्द्र राशि– वृश्चिक

हिन्दू मास एवं वर्ष

शक सम्वत – 1943 प्लव

विक्रम सम्वत – 2079

काली सम्वत – 5122

दिन काल – 12:11:28

मास अमांत – फाल्गुन

मास पूर्णिमांत – चैत्र

शुभ समय – कोई नहीं

अशुभ समय (अशुभ मुहूर्त)

दुष्टमुहूर्त – 12:03:43 से 12:52:29 तक

कुलिक – 12:03:43 से 12:52:29 तक

कंटक – 16:56:19 से 17:45:05 तक

राहु काल – 12:46 से 14:17

कालवेला/अर्द्धयाम – 07:11:07 से 07:59:53 तक

यमघण्ट – 08:48:39 से 09:37:25 तक

यमगण्ड – 07:53:48 से 09:25:14 तक

गुलिक काल – 14:17 से 15:48