Aaj Ka Panchang : 22 जुलाई 2022 : आज करें माता लक्ष्मी को प्रसन्न, जानें शुभ-अशुभ समय और राहुकाल.

आज का पंचांग (Aaj Ka Panchang): आज 22 जुलाई दिन शुक्रवार है. आज सावन माह के कृष्ण पक्ष की नवमी तिथि है. आज शुक्रवार के दिन आपको धन, वैभव और ऐश्वर्य की देवी माता लक्ष्मी को प्रसन्न करना चाहिए. माता लक्ष्मी की कृपा होने से दरिद्रता दूर होती है, आर्थिक संकट खत्म हो जाता है, धन, संपत्ति, सुख आदि में वृद्धि होती है. शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए लाल गुलाब या कमल का फूल, कमलगट्टा, बताशा, मखाने की खीर, सफेद बर्फी, अक्षत्, धूप, दीप, गंध, कुमकुम, सिंदूर आदि चढ़ाना चाहिए. पूजा के समय श्री लक्ष्मी चालीसा, श्री सूक्त, कनकधारा स्तोत्र आदि का पाठ करना उत्तम माना जाता है. कनकधारा स्तोत्र का पाठ करने से अपार धन की प्राप्ति होती है. ऐसी धार्मिक मान्यता है.

शुक्रवार को माता लक्ष्मी जी के साथ गणेश जी की पूजा करने से स्थिर लक्ष्मी की प्राप्ति होती है. गणेश जी उनके पुत्र के समान है. उनको माता लक्ष्मी ने आशीर्वाद दिया था कि जिस घर में गणपति के साथ लक्ष्मी की पूजा होगी, वहां पर वे स्थिर होकर वास करेंगी. शुक्रवार को शुक्र ग्रह से संबंधित वस्तुओं का दान करने से इस ग्रह से जुड़े दोष और पीड़ा दूर होते हैं. इस दिन आपको किसी गरीब ब्राह्मण को सफेद कपड़े, चावल, दूध, इत्र, मोती आदि का दान करना चाहिए. इसके अतिरिक्त आप चाहें तो शुक्रवार व्रत रख सकते हैं और शुक्र के बीज मंत्र का जाप भी कर सकते हैं. इससे आपको अवश्य ही लाभ होगा. आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी होगी आज ग्रहों की चाल.

यह भी पढ़े :  Lord Hanuman Puja: कभी सोचा है हनुमान जी की पूजा मंगलवार को ही क्यों होती है? जानिए ये खास वजह

22 जुलाई 2022 का पंचांग

आज की तिथि – श्रावण कृष्णपक्ष नवमी

आज का करण – गर

आज का नक्षत्र – भरणी

आज का योग – शूल

आज का पक्ष – कृष्ण

आज का वार – शुक्रवार

सूर्योदय-सूर्यास्त और चंद्रोदय-चंद्रास्त का समय

सूर्योदय – 06:05:00 AM

सूर्यास्त – 07:25:00 PM

चन्द्रोदय – 25:04:59

चन्द्रास्त – 14:09:00

चन्द्र राशि– मेष

हिन्दू मास एवं वर्ष

शक सम्वत – 1944 शुभकृत

विक्रम सम्वत – 2079

काली सम्वत – 5123

दिन काल – 13:41:40

मास अमांत – आषाढ़

मास पूर्णिमांत – श्रावण

शुभ समय – 11:59:57 से 12:54:43 तक

अशुभ समय (अशुभ मुहूर्त)

दुष्टमुहूर्त– 08:20:50 से 09:15:36 तक, 12:54:43 से 13:49:30 तक

कुलिक– 08:20:50 से 09:15:36 तक

कंटक– 13:49:30 से 14:44:17 तक

राहु काल– 11:05 से 12:45 तक

कालवेला/अर्द्धयाम– 15:39:04 से 16:33:50 तक

यमघण्ट– 17:28:37 से 18:23:24 तक

यमगण्ड– 15:52:45 से 17:35:28 तक

गुलिक काल– 07:45 to 09:25 तक