VASTU SHASTRA : घर या ऑफिस में कौन सी दिशा में भूलकर भी न लगाएं घड़ी.

समय का इंसान के जीवन में विशेष महत्व है. समय के मुताबिक चलना, समय से काम करना और समय का ख्याल रखकर ही किसी भी काम को करना हर किसी की जरूरत है. करते भी हैं कि जो समय का साथ नहीं देता है, समय उसका साथ छोड़ देता है. वास्तु शास्त्र के अनुसार घड़ी सिर्फ समय देखने वाला यंत्र नहीं है, बल्कि इंसान के जीवन पर घड़ी का खास प्रभाव पड़ता है. घर या दफ्तर में घड़ी लगाने से पहले इसकी सही दिशा और वास्तु के नियमों के विषय में जानना बेहद जरूरी है. ऐसे में जानते हैं कि घड़ी को किस दिशा में लगाने से अच्छे परिणाम मिलते हैं.

घड़ी लगाते वक्त रखें दिशाओं का ध्यान
वास्तु शास्त्र के अनुसार घड़ी, उत्तर पूरब दिशा की दीवार पर लगाना शुभ है. ऐसा इसलिए क्योंकि पूरब और उत्तर दिशा में सकारात्मक उर्जा का भरपूर संचार होता है. इन दिशाओं में घड़ी लगाने से शुभ फल मिलता है. साथ ही जीवन में उन्नति होती है. पूरब दिशा में घड़ लगाने से घर में मां लक्ष्मी का आगमन होता है. इसके अलावा घर में रहने वाले सदस्यों के मन में सकारात्मक विचार आते हैं. वहीं घर या दफ्तर की दक्षिण दिशा की दीवार पर घड़ी नहीं लगाना चाहिए, क्योंकि इस दिशा में घड़ी लगाने से नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव बढ़ने लगता है. इसलिए दक्षिण दिशा की दीवार पर घड़ी कभी नहीं लगाना चाहिए.

दरवाजे के ऊपर न लगाएं घड़ी
अगर घर के किसी दरवाजे के ऊपर घड़ी लगी है तो उसे तुरंत उतार दें, ऐसा इसलिए क्योंकि घड़ी के नीचे से जो भी गुजरता है उस पर नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव सबसे अधिक पड़ता है. इसके अलावा अगर घर में कोई घड़ी बंद अवस्था में पड़ी है या खराब है तो उसे भी हटा दें. दरअसल खराब या रुकी हुई घड़ी की सूईयां नकारात्मक उर्जा का संकेत देती हैं.

यह भी पढ़े :  According to the zodiac : राशि अनुसार करें कन्या पूजन और कन्याओं को दें ये उपहार.

घर में न रखें बंद घड़ियां
वास्तु शास्त्र के मुताबिक घर में बंद घड़ियों को रखने से दरिद्रता बढ़ती है. साथ ही इंसान का जीवन ठहराव की स्थिति में आ जाता है. वहीं घर या दफ्तर में लाल, काले या नीले रंग की घड़ी नहीं लगानी चाहिए, जबकि पीले, हरे या हल्के भूरे रंग की घड़ी लगाना शुभ होता है.