MARS TRANSIT : 2022 में कब कब बदलेगी ‘मंगल’ की चाल, सेनापति ऐसे दिलाता है राजयोग.

जिस इंसान की कुंडली में मंगल का प्रभाव होता है, वह लोकप्रिय नेता, अच्छा वक्ता और अपनी बातों से सामने वालों को परास्त करने वाला होता है. वहीं मंगल का शुभ प्रभाव से कोई इंसान सेना या पुलिस में उच्च पद पाता है.

ज्योतिष में मंगल को उग्र माना गया है. इसे देवताओं का सेनापति भी कहा जाता है. मंगल के प्रभाव से ही किसी इंसान में पराक्रम और उत्साह रहता है. साथ ही मंगल मेष और वृश्चिक राशि का स्वामी ग्रह है. इसके अलावा मंगल मकर राशि में उच्च और कर्क में नीच माने गए हैं. जिस इंसान की कुंडली में मंगल का प्रभाव होता है, वह लोकप्रिय नेता, अच्छा वक्ता और अपनी बातों से सामने वालों को परास्त करने वाला होता है. वहीं मंगल का शुभ प्रभाव से कोई इंसान सेना या पुलिस में उच्च पद पाता है. साल 2022 में मंगल की चाल कब-कब बदलने वाली है इसे जानते हैं.

मंगल गोचर 2022 (Mars Transit in 2022)
साल 2022 में 16 जनवरी को मंगल वृश्चिक से धनु राशि में प्रवेश करेगा. फरवरी में 26 फरवरी के मंगल धनु से मकर में राशि में जाएगा. इसके बाद 07 अप्रैल को मंगल का मकर से कुंभ में राशि गोचर होगा. फिर मंगल 17 मई को कुंभ से मीन में राशि में प्रवेश करेगा. जून में 27 तारीख को मंगल मीन से मेष में राशि में प्रवेश करेंगा. अगस्त में 10 तारीख को मंगल का मेष से वृषभ में राशि में परिवर्तन होगा. इसके बाद 15 अक्टूबर को मंगल वृषभ से मिथुन में राशि में गोचर करेगा. मंगल नवंबर में 14 तारीख को मिथुन से वृषभ में राशि में गोचर करेगा.

यह भी पढ़े :  Chaitra Navratri 2022 : जानें मुहूर्त, मंत्र एवं आरती मां कात्यायनी की पूजा विधि.

2022 में मंगल की वक्री चाल (Mars Retrograde in 2022)
देवताओं के सेनापति माने जाने वाले मंगल देव 30 अक्टूबर 2022 से वक्री चाल शुरू करेंगे. मंगल की वक्री चाल मिथुना राशि से शुरू होगा. इसके अलावा मंगल की वक्री चाल वृषभ राशि में समाप्त होगी.

मंगल के शुभ योग (Auspicious Yoga of Mars)
मंगल का लक्ष्मी योग सबसे शुभ योग है. मंगल के इस योग से भाग्य चमक उठता है. लक्ष्मी योग चंद्रमा और मंगल के संयोग से बनता है. यह योग व्यक्ति को धनवान बनाता है. इसके अलावा मंगल का रूचक योग भी खास होता है. जिनकी कुंडली में यह योग बनता है उसे राजा जैसा सुख मिलता है.