MAHASHIVRATRI 2022 : महाशिवरात्रि पर पूरी हो जाएगी हर मनोकामना इस खास तरीके से करेंगे शिव जी की पूजा.

देवों के देव महादेव के प्राकट्य दिवस और शिव-पार्वती के विवाहोत्‍सव का पर्व महाशिवरात्रि बेहद ही महत्‍वपूर्ण पर्व होता है. साथ ही यह दिन भगवान शिव और माता पार्वती की कृपा पाने के लिहाज से भी बेहद खास है. यदि इस दिन पूरे भक्ति भाव और विधि-विधान से शिव जी की पूजा-आराधना की जाए तो भोलेनाथ सुख, संपत्ति, सेहत से लेकर हर चीज देते हैं. साथ ही मनचाही मुराद भी पूरी कर देते हैं. 1 मार्च 2022, मंगलवार को महाशिवरात्रि के दिन शिव जी को प्रसन्‍न करने के लिए खास विधि से पूजा जरूर करें.

इसी दिन भक्‍तों को हुए थे शिवलिंग रूप के दर्शन

पुराणों के अनुसान भगवान शिव ने महाशिवरात्रि के दिन ही अपने भक्तों को शिवलिंग के रूप में दर्शन दिए थे. यही कारण है कि यह महापर्व बेहद खास माना जाता है और इस दिन शि‍वलिंग का अभिषेक करने का खास महत्‍व है. यदि पूरे विधि-विधान से महाशिवरात्रि के दिन रुद्राभिषेक किया जाए तो शिव जी हर मनोकामना पूरी कर देते हैं.

महाशिवरात्रि पर पूजा की विधि :

महाशिवरात्रि के दिन सुबह सूर्योदय से पहले उठ जाएं और स्‍नान करके साफ कपड़े पहन लें. संभव हो तो महाशिवरात्रि पर व्रत रखें. इसके बाद शिवलिंग का पंचामृत से अभिषेक करें. शिवलिंग पर एक-एक करके जल, दूध, दही, शहद, घी आदि अर्पित करें. आखिर में जल चढ़ाएं. इसके बाद भगवान शिव को चंदन, भभूत का तिलक लगाकर बेलपत्र, शमीपत्र, भांग, धतूरा, फल, फूल, मिष्ठान, पान, सुपाड़ी, इलायची, लौंग, इत्र और कुछ दक्षिणा अर्पित करें. इस दौरान शिव जी के पंचाक्षरी मंत्र ॐ नम: शिवाय या फिर महामृत्युंजय मंत्र का जाप करते रहें. आखिर में भगवान शिव को केसर युक्त खीर का भोग लगाएं और फिर सभी को उसका प्रसाद बांटें.

यह भी पढ़े :  new year to wish for children ; नए साल में करे ये खास उपाय संतान प्राप्ति के लिए.

मान्‍यता है कि इस तरह पूरे विध‍ि-विधान से महाशिवरात्रि के दिन रुद्राभिषेक करने से जीवन की सारी परेशानियां, बीमारियां, दुख दूर हो जाते हैं. शिव जी कृपा से खूब सुख-समृद्धि, खुशहाल पारिवारिक जीवन मिलता है.