BUDH GRAH : इन दो राशियों के लोग कभी नहीं रह पाते एक साथ, शनि देव करते हैं जिंदगी तबाह.

ज्योतिष में चार तत्व में राशियों को बांटा गया है. इनमें से एक पृथ्वी तत्व का स्वामी बुध ग्रह है. ज्योतिष के मुताबिक मिथुन और कन्या बुध की राशियां हैं. मिथुन वायु तत्व की राशि है जबकि कन्या राशि को पृथ्वी तत्व का माना जाता है. इन दो राशियों के लोगों का भाग्य और स्वभाव एक दूसरे से अलग होता है. इसके अलावा इन दो राशियों के जीवन के लक्ष्य भी अलग-अलग होते हैं. ज्योतिष के मुताबिक इन दो राशियों के लोग एक दूसरे से बिलकुल अलग होते हैं. इन दो राशियों के लोगों में क्या खास होता है इसे जानते हैं.

मिथुन (Gemini)
ज्योतिष के मुताबिक मिथुन राशि का स्वमी बुध है. इसके अलावा इस राशि में शनि भाग्य को बढ़ाने वाले होते हैं. इस राशि के लोगों में जबरदस्त आकर्षण क्षमता होती है. साथ ही इस राशि के लोग बुद्धिमान भी होते हैं. हाजिरजवाबी के मामले में भी इस राशि के लोग औरों से आगे होते हैं. वहीं इस राशि के लोगों की सबसे बड़ी कमजोरी लापरवाही होती है. वहीं इस राशि के जातकों को रोजाना हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए. साथ ही इस राशि के लोगों पीपल के नीचे दीया जलाना भी अच्छा होता है.

कन्या (Virgo)
कन्या राशि का स्वामी भी बुध ग्रह ही है. कन्या को पृथ्वी तत्व की सबसे बड़ी राशि मानी जाती है. ज्योतिष के मुताबिक कन्या राशि के लोग बहुत चालाक होते हैं. इसके अलावा वाकपटुता के मामले में इस राशि के जातक औरों से आगे रहते हैं. कन्या राशि के लोग भाग्य से धनवान होते हैं. वहीं इस राशि के लोगों की सबसे बड़ी कमजोरी स्वार्थी होना है. इस राशि के लोगों को गायत्री मंत्र का जाप लाभकारी होता है.