AMAVASYA : अमावस्या के दिन न खरीदें ये चीजें, नहीं तो एक के बाद एक आएंगी मुसीबतें.

जिस तरह हर काम को करने का शुभ-अशुभ मुहूर्त होता है, वैसे ही घर में कुछ खास चीजों को लाने का भी शुभ-अशुभ समय होता है. यदि अच्‍छी चीज भी गलत समय में लाई जाए तो वह बर्बादी का कारण बन सकती है. ऐसा ही एक दिन अमावस्‍या का होता है, जिस दिन घर में कुछ खास चीजों को लाना जिंदगी में मुसीबतों को खुद बुलावा देना है. हिंदू धर्म में अमावस्‍या को पितृ यानी कि पूर्वजों को समर्पित किया गया है. लिहाजा अमावस्‍या के लिए कुछ नियम बनाए गए हैं, जिनका पालन करना चाहिए वरना पितृ नाराज हो जाते हैं.

पूजा का सामान :
भगवान के वस्‍त्र, पूजा का सामान गलती से भी अमावस्‍या के दिन न खरीदें. ऐसा करना आपको मुश्किल में डाल सकता है. अमावस्‍या के दिन खरीदी गईं ये चीजें भगवान को नाराज करती हैं.

झाड़ू : 
झाड़ू को मां लक्ष्‍मी का प्रतीक माना गया है. यदि अमावस्या के दिन झाड़ू खरीदी जाए तो मां लक्ष्‍मी नाराज हो जाती हैं और घर में रखा पैसा भी बर्बाद हो जाता है. लिहाजा आर्थिक स्थिति की मजबूती चाहते हैं तो कभी भी अमावस्‍या के दिन झाड़ू न खरीदें.

शराब-नॉनवेज :
वैसे तो शराब पीना या कोई भी नशा करना धर्म में वर्जित ही माना गया है लेकिन कुछ खास दिनों में नशा करना जिंदगी पर बड़ा संकट ला सकता है. अमावस्‍या भी इन्‍हीं में से एक है. धर्म-शास्‍त्रों के मुताबिक अमावस्‍या के दिन शराब-नॉनवेज खरीदना या इनका सेवन करना पितरों को नाराज करता है और जिंदगी में नकारात्‍मकता लाता है. ये काम शनि को भी नाराज करते हैं.

यह भी पढ़े :  Sakat Chauth 2022: संकट चौथ की तारीख पूजा मुहूर्त एवं चंद्रोदय समय.

तेल :
जिस तरह शनिवार के दिन तेल खरीदने और लगाने से बचना चाहिए. उसी तरह अमावस्‍या को भी तेल नहीं लगाना चाहिए. हालांकि इस दिन जरूरतमंदों को तेल का दान करना शुभ होता है.

आटा या अनाज :
अमावस्‍या के दिन अनाज या आटा खरीदना भी अशुभ होता है. ऐसा करना पूर्वजों की नाराजगी का कारण बनता है.